Protest against farm bill: कृषि बिलों को लेकर सड़क से संसद तक संग्राम, 25 सितंबर को किसानों का चक्का जाम

0

संसद के दोनों सदनों से कृषि विधेयकों के पारित होने से नाराज किसान सड़कों पर है। भारतीय किसान यूनियन ने कहा कि मोदी सरकार की ओर से पारित किए गए कृषि बिलों का विरोध करने से पीछे नहीं हटेंगे। 25 सितंबर को पूरे देश के किसान सड़कों पर उतरकर इन विधेयकों का विरोध दर्ज कराएंगे। किसान यूनियान ने कहा कि सरकार बहुमत के नशे में चूर है। राज्यसभा में नियमों की अनदेखी कर पारित किए किसान बिलों का विरोध करने के लिए 25 सितंबर से देशभर में किसान चक्का जाम करेंगे। इसे किसान कर्फ्यू का नाम दिया गया है।

किसान यूनियन का कहना है कि हक के लिए सरकार से किसानों की आरपार की लड़ाई होगी। सरकार की हठधर्मिता पर किसान पीछे हटने वाले नहीं है। 25 तारीख को पूरा देश का किसान सड़कों पर उतर कर इन बिलों का विरोध किया जाएगा। देश भर के किसानों में जन जागरूकता अभियान चलाया है। जब तक कोई समझौता नहीं होता तब तक किसान सड़कों पर रहेगा।

न्यूनतम समर्थन मूल्य को सभी फसलों पर लागू करते हुए कानून बनाया जाए। समर्थन मूल्य से कम क़ीमत पर फसल खरीदने को अपराध की श्रेणी में शामिल किया जाए। किसान बिलों से जुड़े अध्यादेशों को वापस लिया जाए। किसान बिलों के विरोध में विपक्षी दल उतरे हुए हैं। विपक्षी दलों का प्रतिनिधि मंडल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से आज शाम को 5 बजे मुलाकात करेगा। राष्ट्रपति से कृषि बिलों को लागू नहीं करने का आग्रह कर वापस राज्यसभा में भेजने की अपील की जाएगी।

Read More…
Bihar Election 2020: बिहार DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने खादी के लिए छोड़ी खाकी, ये है वजह
Parliament Updates: राज्यसभा की कार्यवाही से विपक्ष नदारद, विपक्षी दलों की बैठक आज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here