Bengal Election 2021: प्रशांत किशोर को लेकर टीएमसी में बगावती सुर, एक और विधायक ने उठाए सवाल…

0

पश्चिम बंगाल में अगले साल 294 विधानसभा सीटों पर चुनाव होने हैं। राजनीतिक पार्टियां बंगाल चुनाव प्रचार की तैयारियों में अभी से जुट गई है। बीजेपी ने प्रचार को लेकर जहां अपनी ताकत लगा रखी है। वहीं लेफ्ट पार्टियां भी चुनाव में उतरने का मन बना रही है। ओवैसी फैक्टर बंगाल चुनाव में मतता सरकार के सामने चुनौती बन सकती हैं। बंगाल में 27 फीसदी मुस्लिम आबाद राज्य की 100-120 सीटों पर जीत हार का अंतर तय करती है।

ऐसे में टीएमसी को मिलने वाला मुस्लिम समुदाय का वोट बैंक ओवैसी के खाते में खिसकने का डर है। वहीं बीजेपी को असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM से फायदा होने वाला है। इस नवंबर के महीने में गृह मंत्री अमित शाह के बंगाल दौरे से चुनावी बिगुल बज चुका है। ऐसे में बीजेपी बंगाल में 200 सीटें जीतने का दावा कर रही है। इस बार ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी की मुश्किलें बढती जा रही है। हाल में मंत्री पद से इस्तीफा देने वाले शुभेंदु अधिकार के झटके से टीएमसी उभर भी नहीं पाई थी कि फिर से बगावती सुर देखने को मिल रहे हैं।

शुभेंदु अधिकारी ममता सरकार में कद्दावर नेता और मंत्री रहे हैं जो करीब 50 सीटों पर अपना प्रभाव रखते हैं। अब बगावती सुर टीएमसी की तरफ से चुनाव में नैया पार करने के लिए लाए गए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के खिलाफ है। शिवपुर विधायक लाहिड़ी ने आने वाले दिनों में परोक्ष रूप से टीएमसी छोड़ने का संकेत दिया है। टीएमसी में इसी तरह बगावत होती रही तो ममता सरकार के सामने मुश्किलें खड़ी होने से इनकार नहीं किया जा सकता है।

Read More…
Farmers Protest: दिल्ली में किसानों का हल्लाबोल जारी, टिकरी-सिंधु बॉर्डर पूरी तरह से बंद….
Lockdown in Rajasthan: प्रदेश के कंटेंनमेंट जोन 31 दिसंबर तक लॉक, नहीं खुलेंगे स्कूल-कॉलेज….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here