China Myanmar Relations 2020: श्रीलंका के बाद अब चीन के निशाने पर म्यांमार, चल रहा है ये चाल….

0

चीन अपनी विस्तारवादी नीति के लिए कुछ भी करने को तैयार है। भारत को घेरने के लिए चीन पिछले कई साल से बड़े पैमाने पर पड़ोसी देशों में निवेश करने में लगा है। भारत पर दबाव बनाने के लिए श्रीलंका के साथ अब चीन म्यानमार पर नजर बनाए हुए हैं। श्रीलंका पर तो चीन का कर्ज इतना बढ़ गया है कि उसे अपना हंबनटोटा पोर्ट को लीज पर देना पड़ा है। श्रीलंका के बाद अब म्यांमार पर चीन पैनी नजरें बनाए हुए हैं।

चीन ने म्यांमार को अरबों डॉलर का कर्ज दिया हुआ है। भारत के साथ म्यांमार के मजबूत होते रिश्तों के बीच चीन इस देश को दिए गए लोन की समीक्षा अब शुरू कर दी है। चीन ने म्यांमार में करीब 100 बिलियन डॉलर का निवेश कर रखा है। इसके चलते वह म्यांमार में 38 परियोजनाओं को बनाने की प्लानिंग कर रहा है। हालांकि, चीन को अभी तक दो परियोजनाओं को लेकर स्वीकृति मिल गई है। चीन ने शी जिनपिंग के महत्वाकांक्षी मिशन बेल्ट एंड रोड इनिशियटिव के तहत म्यांमार को अरबों डॉलर का कर्ज दिाय है।

इस प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए चीन ने म्यांमार से बात की तो उसने चीन-म्यांमार-बांग्लादेश-भारत इकोनॉमिक कॉरिडोर का नाम दिया है।बता दें कि म्यांमार भारत का रणनीतिक रूप से अहम पड़ोसी देश है। इसके साथ भारत की सीमा 1640 किलोमीटर है। उग्रवाद प्रभावित नागालैंड और मणिपुर सहित पूर्वोत्तर के कई राज्यों की सीमाएं म्यांमार से लगती है। पूर्वोत्तर में सक्रिय उग्रवादी समूहों को म्यांमार में शरण लिए जाने को लेकर भारत के सामने चिंता है।

Read More…
Uddhav Thackery: CM उद्धव ठाकरे का कंगना पर तंज,कहा- मुंबई को बदनाम करने की साजिश….
US Election 2020: अमेरिकी विदेश मंत्री-रक्षा मंत्री का भारत दौरा आज, कई समझौतों पर फैसलों की उम्मीद….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here