Parliament Session 2020: राज्यसभा के लिए ऐतिहासिक दिन, साढ़े तीन घंटे में पास हुए 7 बिल

0

राज्यसभा के लिए 22 सितंबर का दिन एतिहासिक रूप में दर्ज हो गया है। मंगलवार को उच्च सदन में साढ़े तीन घंटे में 7 विधेयक पास हो गए। इनमें दालें, अनाज, तिलहन, खाद्य तेल, प्याज और आलू को आवश्यक वस्तु की सूची से हटाने वाले बिल भी शामिल हैं। हालांकि, किसान बिल के विरोध में आठ सदस्यों के निलंबन के कारण विपक्ष ने सदन की कार्यवाही का बहिष्कार किया। इस बीच सदन से विधेयक पास हो गए। यह  बिल लोकसभा से पहले ही पारित हो चुके हैं।

कांग्रेस, सपा, एनसीपी और वाम दलों के सांसदों ने बहिष्कार की वजह से सदन की कार्यवाही में हिस्सा नहीं लिया। विधेयकों पर चर्चा में केवल सत्ताधारी बीजेपी, जदयू, बीजू जनता दल, अनाद्रमुक, वाईएसआर कांग्रेस और टीडीपी के सदस्यों ने हिस्सा लेकर मोदी सरकार का समर्थन किया है। ज्यादातर बिलों पर सदन में सदस्यों में कम भागीदारी दर्ज हो सकी। विधेयकों को पास कराने के लिए राज्यसभा की कार्यवाही का समय एक घंटा बढ़ाया गया।

कराधान एवं अन्य कानून बिल-2020, आवश्यक वस्तु बिल सहित सात बिल राज्यसभा से पास किए गए। बता दें कि सांसदों के निलंबन के बाद ससंद परिसर में सांसद धरने पर बैठे रहे। राज्यसभा की कार्यवाही जैसे ही शुरू हुई तो कांग्रेस ने सांसदों के निलंबन का मुद्दा उठाया। विपक्षी दलों ने संसद के मानसून सत्र में राज्यसभा की कार्रवाई का बहिष्कार करने का फैसला किया। इसके बाद निलंबित सांसदों ने धरना समाप्त कर दिया।

Read More…
Bihar Election 2020: बिहार DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने खादी के लिए छोड़ी खाकी, ये है वजह
Parliament Updates: राज्यसभा की कार्यवाही से विपक्ष नदारद, विपक्षी दलों की बैठक आज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here