Rajasthan: सचिन पायलट की हो गई ‘घर वापसी’, कितनी मुश्किल होगी आगे की सियासी राह…

0

राजस्थान कांग्रेस का सियासी संकट गांधी परिवार के हस्तक्षेप के बाद सुलझ गया है। सचिन पायलट के राहुल और प्रियंका से मुलाकात के बाद गहलोत सरकार पर छाया संकट टल गया है। एक महीने तक कांग्रेस के लिए चुनौती बनकर खड़े हुए पायलट कैंप को समझाने में राहुल और प्रियंका गांधी ने अहम भूमिका निभाई है। ऐसे में गहलोत सरकार से बागी हुए पायलट की अब घर वापसी हो गई है। लेकिन पायलट के सामने कांग्रेस में आगे की राह बेहद मुश्किल होती नजर आ रही है।

कांग्रेस आलाकमान ने गहलोत और पायलट कैंप के के साथ सुलह करने और उनकी मांगों पर विचार करने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। इस कमेटी की रिपोर्ट के बदा उन पर होने वाले अमल पर निर्भर करेगा। पायलट की घर वापसी पर गहलोत गुट एक दर्जन विधायक बागियों को वापस लाने के पक्ष में नहीं है। लेकिन काग्रेस हाईकमान के बदले रुख ने उन्हें मजबूर कर दिया है। पायलट ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री पद गंवाने के साथ पार्टी में आगे की राह बेहद मुश्किल कर ली है। कांग्रेस से बगावत करने के बाद पायलट बार-बार मान-सम्मान और स्वाभिमान की बात करते रहे हैं।

हालांकि, हाईकमान के दखल के बाद पायलट की घर वापसी हो गई है। ऐसे हालात में लगता नहीं है कि पार्टी उन्हें राजस्थान में कोई बड़ी जिम्मेदारी सौंपेगी। बता दें कि बगावत के एक महीने बाद पायलट फिर से कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। सोमवार को पालयट ने सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका से मुलाकात की। बागी विधायकों की समस्याकों को हल करने के लिए तीन सदस्यीय का गठन किया गया है। इन वादों के साथ पायलट मान गए हैं।

Read More…
बेंगलुरु: फेसबुक पोस्ट से उबल पड़ा पूरा शहर, 60 पुलिसकर्मी घायल, दो की मौत
कृष्ण जन्माष्टमी: रोजाना एक लाख श्रद्धालुओं से भरे रहने वाले द्वारका नगरी में पसरा सन्नाटा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here