New Farm Laws 2020: पंजाब-हरियाणा में कृषि कानून का जबरदस्त विरोध, भगत सिंह के गांव में अमरिंदर सिंह का धरना

0

संसद के दोनों सदनों से पारित हुए कृषि विधेयकों को लेकर देशभर के किसान सड़कों पर है। इन विधेयकों का सबसे ज्यादा विरोध पंजाब, हरियाणा और कर्नाटक में देखने को मिल रहा है। पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी किसान बिलों के विरोध में उतर गए हैं। अमरिंदर सिंह ने शहीद भगत सिंह नगर के खटकर कलां गाव में धरने पर बैठ गए ।

कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति की मंजूरी को अमरिंदर सिंह ने दुर्भाग्यपूर्ण और निराशा जनक करार दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों को संसद में अपनी बात रखने का अवसर नहीं दिया गया है। कृषि बिलों को राष्ट्रपति की मंजूरी मिलना उन किसानों के लिए झटका है जो केंद्र के इन कानूनों के खिलाफ सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन कानूनों को मौजूदा स्वरूप में लागू करने से पंजाब का कृषि क्षेत्र बर्बाद हो जाएगा।

बता दें कि मोदी सरकार की ओर से संसद में पेश किए गए कृषि के तीन बिलों को दोनों सदनों से पारित किया जा चुका है। इसके बाद रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी इन बिलों को मंजूरी दे दी है।वहीं पंजाब और हरियाणा में किसानों का विरोध संसद के पास जा पहुंचा है। इंडिया गेट पर किसानों ने कृषि कानून के खिलाफ विरोध जताते हुए ट्रैक्टर में आग लगा दी। किसानों का कहना है कि कृषि बिलों से किसान कांट्रेक्ट फार्मिंग के दायरे में आ जाएंगे। कंपनियां जमीदारों की तरह किसानों से फसल उत्पादन कराकर खुद मुनाफा कमाएंगी।

Read More…
Farm law protest: कृषि कानून के विरोध में किसानों का हल्ला बोल, संसद के पास ट्रैक्टर में लगाई आग
Dungarpur Violence: चार दिन के उपद्रव के बाद महापड़ाव खत्म, उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे पर यातायात बहाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here