हांगकांग: नए कानून का विरोध पड़ा भारी, लोकतंत्र समर्थकों के चुनाव लड़ने पर रोक

0

चीन का नया राष्ट्रीय कानून हांगकांग में लागू होने पर विरोध प्रदर्शन हुए। लेकिन चीन सरकार लोगों की आवाज दबाने के लिए इस नए कानून को हथियार बनाकर लाई है। हांगकांग सरकार ने चीन के नए राष्ट्री सुरक्षा कानून का विरोध करने के कारण 12 लोकतंत्र समर्थक उम्मीदवारों को चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित कर दिया है।

अयोग्य ठहराए गए उम्मीदवारों में लोकतंत्र समर्थक कार्यकर्ता जोशुआ वोंग, उदारवादी पार्टी के उम्मीदवार, नागरिक पार्टी के सदस्य और विपक्षी खेमे के कुछ सदस्य शामिल हैं। चीन की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू करने के एक महीने बाद हांगकांग सरकार का ये कदम लोकतंत्र को कुचलने वाला साबित हो रहा है। हालांकि, हांगकांग सरकार का कहना है कि आगे और भी लोगों को अयोग्य घोषित किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि हांगकांग सरकार का ये कदम चीन  के पश्चिम के साथ टकराव को पैदा कर सकता है।

आलोचकों का कहना है कि बीते साल जिला परिषद चुनावों में लोकतंत्र समर्थकों ने धमाकेदार जीत दर्ज की थी। इसके चलते युवा पीढी़ को आगे बढ़ने से रोकने के इरादे से हांगकांग सरकार ने ये कदम उठाया है। लोकतंत्र समर्थकों का कहना है कि सरकार के इस कदम से साफ है कि बीजिंग हांगकांग के लोगों की भावनाओं की अवहेलना की जा रही है। सरकार स्वायत्ता को बचाने की आखिर कोशिश को दबाना चाहती है। इसके चलते हांगकांग सरकार को अपनी गिरफ्त में करने का प्रयास किया जा रहा है।

Read More…
राजस्थान सरकार का बड़ा फैसला, 1 सितंबर से खुल जाएंगे सभी धार्मिक स्थल
नौसेना में 6.76 करोड़ रुपये का घोटाला, CBI की चार राज्यों में 30 ठिकानों पर छापेमारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here