लिपुलेख दर्रे के पास चीन ने तैनात किए 1 हजार सैनिक, भारतीय जवान अलर्ट मोड़ पर…

0

भारत और चीन सीमा पर तनातनी को खत्म करने के प्रयासों के बीच चीन नई-नई चाल चल रहा है। अब उत्तराखंड के लिपुलेख दर्रे के पास चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिक बटालियन को तैनात कर दिया है। वास्तविक नियंत्रण रेखा पर लद्दाख सेक्टर से बाहर उन स्थानों में से एक है जहां पिछले कुछ हफ्तों से चीनी सैनिकों की आवाजाही तेज होती जा रही है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, मामले से जुड़े अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी साझा की है। दोनों देशों के बीच मई से लद्दाख सेक्टर में गतिरोध चल रहा है। भारत और चीन के बीच तनाव उस समय ज्यादा बढ़ गया जब 15 जून की रात को चीनी सैनिकों ने दोखे से भारतीय जवानों पर हमला कर दिया था। इस हिंसक घटना में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षामंत्री ने लद्दाख सेक्टर के एलएसी का दौरा कर चीन को कड़ा संदेश दिया था। इसके बाद गोगरा पोस्ट, हॉट स्पिंग और गलवान घाटी से चीनी सैनिकों के हटने को लेकर खबरें सामने आई थी। लेकिन चीन फिर से नई चाल को लेकर बाज नहीं आ रहा है। वहीं पैंगोग झील में भी चीनी सैनिकों और बोट का जमावड़ा लग गया है।

एक रिपोर्ट के हवाले से सैन्य कमांडर ने बताया कि अरुणाचल प्रदेश, उत्तरी सिक्किम के कुछ हिस्सों, लिपुलेख दर्रे पर एलएसी के पार तैनात पीएलए सैनिकों की संख्या बढ़ी है। लद्दाख में चीन अपने अंदरूनी इलाकों में सैनिकों की संख्या बल को बढ़ाया है। चीन अपनी ताकत को मजबूत करने में लगा है।

Read More…
अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर 31 अगस्त तक रोक, सफर के लिए करना पड़ेगा और इंतजार
अमेरिकी राष्ट्रपति ने TikTok पर दिया बड़ा बयान, कहा-जल्द लग सकता है प्रतिबंध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here