Bihar Election 2020: बिहार चुनाव के साथ कांग्रेस की UP पर नजर, जातीय समीकरणों को साधने की कोशिश

0

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर शंखनाद हो चुका है। राजनीतिक पार्टियां मेदान में उतरकर अपनी सियासी जमीन तलाश रही है। बिहार चुनाव के लिए राजनीतिक दलों ने जातीय समीकरणों को साधते हुए उम्मीदवारों को टिकट दिया है। इस समीकरण के साथ कांग्रेस ने भी तालमेल बनाते हुए अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया है। इसके साथ ही पार्टी ने अपने परंपरागत वोटबैंक को फिर से पाने के लिए जोखिमभरा कमद उठाया है।

कांग्रेस पार्टी के टिकट बंटवारे पर गौर फरमाने पर लगता है कि अब पार्टी अपनी परंपरागत वोट  बैंक को मजबूत करने को लेकर कई कदम उठा रही है। अपनी सियासी जमीन पर जनाधार को अपने खाते में डालने की पूरजोर कोशिश में लगी कांग्रेस के लिए बिहार विधानसभा चुनाव काफी अहम हो गया है। एक तहर से देखा जाए तो अभी बिहार में चुनाव हो रहे हैं लेकिन कांग्रेस की नजर बिहार के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों पर भी टिकी है।

बिहार विधानसभा चुनाव में तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले महागठबंधन में कांग्रेस के हिस्से में 70 सीटें आई हैं। इस बार कांग्रेस 70 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतार रही है। टिकट बंटवारे पर नजर डालें तो पार्टी ने सबसे ज्यादा टिकट सवर्ण, उसके बाद दलित और तीसरे नंबर पर मुस्लिम को दिया है। कांग्रेस का परंपरागत वोट बैंक ब्राह्मण, दलित और मुस्लिम रहा है। चुनाव में पार्टी इन मतदाताओं पर फोकस करेगी। बता  दें कि बिहार चुनाव के साथ कांग्रेस यूपी में भी राजनीतिक संदेश देना चाहती है। मुस्लिमों को टिकट देकर और हाथरस मामले के साथ खड़े होकर उत्तर प्रदेश की राजनीति में भी कांग्रेस सक्रिय रही है।

Read More…
Navratri 2020: शारदीय नवरात्र आज से शुरू, PM मोदी ने देशवासियों को दी शुभकामनाएं….
Congress New President: जनवरी 2021 में कांग्रेस को मिलेगा नया अध्यक्ष? राहुल गांधी पर सस्पेंस बरकरार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here