Rajasthan: विधायक भंवरलाल और विश्वेन्द्र सिंह के खिलाफ ACB की जांच ढीली, जारी हो चुके हैं तीन नोटिस

0

राजस्थान कांग्रेस में एक नोटिस के बाद मची उछल-पुथल के बाद पायलट गुट की वापसी के बाद विराम लग गया है। इससे पहले विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर एसओजी ने राजद्रोह के मुकदमें में एफआर लगा दी तो एसीबी ने भ्रष्टाचार का केस दर्ज किया है। कांग्रेस आलाकमान के दखल के बाद पायलट गुट के जयपुर आने के बाद एसीबी भी जांच के नाम पर औपचारिकता बरत रही है। मुख्य सचेतक महेश जोशी की रिपोर्ट के आधार पर दर्ज हुए मामले में एसीबी ने विधायक भंवर लाल और विश्वेंद्र सिंह को तीन बार नोटिस दिया था।

ACB की ओर से अब कोई नोटिस नहीं दिया गया है। विधायक भंवर लाल तो मुख्यमंत्री गहलोत से मुलाकात तक कर चुके हैं। एसीबी के तीसरे नोटिस की अवधि पूरी तरह से खत्म हो गई लेकिन इस मामले में एसीबी ने तीसरा नोटिस नहीं दिया है। संजय जैन को रिमांड पर लेकर पूछताछ की थी। बुधवार को रिमांड की मियाद पूरी होने के बाद कोर्ट ने संजय को जेल भेज दिया।

बता दें कि एसीबी ने विधायक भंवर लाल और विश्वेंद्र सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इसके बाद दोनों को पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया था। तीन दिन के भीतर एसीबी ऑफिस झालाना में पूछताछ के लिए पेश होने को कहा गया था। इसके बाद दोनों विधायक एसीबी के दफ्तर नहीं पहुंच सके हैं। नोटिस अवधि पूरी होने के साथ एसीबी की जांच कमजोर पड़ती दिखाई दे रही है।

Read More….
दक्षिण सूड़ान: सैनिकों और नागरिकों के बीच जमकर हिंसा, 127 लोगों की गई जान
Rajasthan: बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय पर आज सुप्रीम कोर्ट और HC में सुनवाई…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here