अमेरिका ने कहा सीरियाई रासायनिक हमले के लिए रूस जिम्मेदार

0
America persindent

अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने सीरिया के विद्रोही ठिकानों पर हुए रासायनिक हमलों के बारे में कहा कि रूस ही इन रासायनिक हमलों के लिए जिम्मेदार है। आगे अमेरिका के विदेश मंत्री ने कहा कि रूस इस बात पर सहमत हुआ था और उसने आश्वस्त किया था कि सीरिया के रासायनिक हथियारों का जखीरा खत्म करेगा जिसमें रूस पूरी तरह से नाकाम रहा। जो कि कुछ दिनों पहले रासायनिक हमले के रूप में सामने आया।

बताया जा रहा है कि ग्रुप 7 के सदस्य देशों के विदेश मंत्री सोमवार का इटली में एक दूसरे से मुलाकात करने वाले है। इस मीटिंग में इस बात पर चर्चा होगी कि रूसी सरकार पर सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद से दूरी बनाने के लिए किस तरह से दबाव डाला जाए। बताया जा रहा है कि इस मीटिंग के बाद अमेरिकी विदेश मंत्री टिलरसन मंगलवार को मास्कों जाकर रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोब से मुलाकात करने वाले हैं। आगे टिलरसन ने बताया कि सीरिया के सहयोग देश रूस ने वर्ष 2013 में सीरियाई रासायनिक हमलें और हथियारों के जखीरे को खत्म करने के लिए एक समझौता किया था। मगर ऐसा नही होने के कारण मासूम बच्चों की जाने गईं।

धाैलपुर विधानसभा उप चुनाव

जिसके बाद अमेरिका ने इसके जवाब में अपनी 59 मिसाइलों से सीरिया के एयरबेस पर हमला किया और सीरिया ने इस हमले में किसी तरह की भूमिका से इनकार किया है।

रूस ने कहा कि अमेरिका ने सीरिया के पास रासायनिक हथियार मौजूद होने से जुडे अभी तक कोई सबूत नहीं दिए है और साथ ही रूस ने अमेरिका के इस दावे का विरोध भी किया है। तथा रूस ने इस हमले को वर्ष 2003 में हुए इराक पर हमले जैसा बताया। रूस ने कहा है कि सीरीयाई हवाई जहाजों ने विद्रोहियों के लिए रासायनिक हथियार बनाते समय एक ठिकाने पर हमला किया था। जिससे नजदीकी इलाके में जहर फैल गया। जिसके बाद विद्रोही दल एवं हथियारों के विशेषज्ञों के अनुसार सभी सुबूत सीरियाई सरकार की तरफ ही इशारा कर रहे हैं।

बताया जा रहा है कि रूस, ईरान और सीरियाई सरकार अमेरिका इस तरह के अगले हवाई हमले का जवाब देने के लिए तैयार दिख रही है अमेरिका कुछ हफते पहले सीरिया के एयरबेस पर हवाई हमला कर चुका है।

हम आपको बता दें कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने एक भाषण में सीरीयाई राष्ट्रपति को तानाशाह तक बताया है।

SHARE
Previous articleजिस मां ने उसको जिंदगी दी थी उसी की जिंदगी छीन ली इस बेटे ने
Next articleसबसे अधिक शिकायतों के मामलें में वोडाफोन सबसे ऊपर, एयरटेल और आइडिया भी कम नही- ट्राई की रिपोर्ट
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here