केंद्रीय मंत्री Javadekar और कांग्रेस नेता Surjewala हुए कोविड पॉजिटिव

0

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने शुक्रवार को घोषणा की कि उन्होंने कोविड-19 जांच करवाई, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पर्यावरण, वन, जलवायु परिवर्तन भारी, उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री जावडेकर ने ट्वीट कर कहा, “मैं आज कोविड जांच में पॉजिटिव निकला। जो लोग पिछले 2-3 दिनों में मेरे संपर्क में आए हैं, वे कृपया अपना टेस्ट करवा लें।”

इससे पहले, दिन में कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी कोविड-19 टेस्ट करवाया, जिसमें वह पॉजिटिव निकले।

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, “मैंने आज सुबह कोविड-19 टेस्ट करवाया, जिसमें पॉजिटिव निकला। जो कोई भी पिछले 5 दिनों में मेरे संपर्क में आए हैं, वे कृपया स्वयं को अलग कर लें और आवश्यक सावधानियां बरतें।”

देश में शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन कोविड के दो लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए।

कोविड के बढ़ते मामलों पर चिंता प्रकट करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर कहा, “प्रिय देशवासियों, यह हम सभी के लिए बड़े संकट का समय है। हमारे सभी करीबी रिश्तेदार, परिवार के सदस्य, हमारे आसपास के लोग कोविड महामारी की चपेट में आ रहे हैं। मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि वे फेस मास्क पहनें और कोविड सुरक्षा से संबंधित सभी निर्देशों का पालन करें। हमें सावधानी और करुणा के साथ, मिलकर इस युद्ध को जीतना होगा।”

प्रियंका गांधी खुद अपने पति रॉबर्ट वाड्रा के कोविड पॉजिटिव हो जाने के बाद से होम आइसोलेशन में हैं।

जावडेकर के अलावा कई मंत्रियों और मुख्यमंत्रियों भी कोविड जांच करवाई है और वे पॉजिटिव पाए गए हैं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा का शुक्रवार को टेस्ट हुआ, वह आठ महीने में दूसरी बार पॉजिटिव निकले।

14 अप्रैल को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पॉजिटिव पाए गए। उसी दिन उनके पूर्ववर्ती और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव भी टेस्ट में पॉजिटिव निकले।

दिल्ली के परिवहन और कानून मंत्री कैलाश गहलोत ने 14 अप्रैल को कोविड-19 जांच करवाई थी, वह पॉजिटिव पाए गए।

11 अप्रैल को केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने कहा कि उन्होंने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान कुछ लक्षण दिखने के बाद कोरोनावायरस टेस्ट करवाया तो वह भी पॉजिटिव पाए गए।

7 अप्रैल को केंद्रीय जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा कोविड-19 पॉजिटिव निकले।

उधर, केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन 8 अप्रैल को कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए। यहां तक कि केरल के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता ओमन चांडी ने भी 8 अप्रैल को कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब 7 अप्रैल को पॉजिटिव पाए गए। डीएमके के वरिष्ठ नेता और थुथुकुडी सांसद कनिमोझी भी 3 अप्रैल को कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए।

न्यूज स़ोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleअलवर:अब ये बाजार 59 घंटे बाद खुलेंगे:अलवर में शाम 5 बजते ही धड़ाधड़ शटर गिरते नजर आए, पुलिस की सख्ती भी दिखी, जिले में 271 नए पॉजिटिव मिले
Next articleअलवर :में बिजली गिरने से युवक की माैत:थानागाजी के श्रादनाें की ढाणी में मकान पर बिजली गिरी, जिसका छज्जा नीचे खड़े 22 साल के युवक पर गिरा
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here