Rajasthan GST Collection: कोरोना की दूसरी लहर के बीच प्रदेश को मिला रिकॉर्ड GST

0

प्रदेश के लिए अच्छी खबर सामने आई है। कोरोना पर तो प्रदेश में अब काबू दिख ही रहा है इसके अलावा इस साल जनवरी-फरवरी की तुलना में मार्च-अप्रैल के दौरान राजस्थान का जीएसटी रेवेन्यू भी 15% बढ़ा है। ये बात इसीलिए बड़ी है क्यूंकि अप्रैल में कोरोना का कहर ज्यादा था बावजूद इसके प्रदेश में इसी महीने में सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन देखने को मिला। जनवरी-फरवरी में बताैर स्टेट जीएसटी कुल 2192.53 कराेड़ रु. मिलाRajasthan tourism, rajasthan tour packages, rajasthan india

मार्च-अप्रैल की बात करे तो तब यह आंकड़ा 2508.03 करोड़ रु. तक पहुंच गया। इस दौरान अकेले अप्रैल में ही 1359.17 करोड़ रु. प्राप्त हुए। बता दें कि राजस्थान में जीएसटी कलेक्शन के कुल जमा 14 जाेन हैं। इसमें जयपुर के नाम से 3 अलग-अलग जाेन हैं, इसमें इसके पड़ोसी जिले भी शामिल हैं। जाेधपुर, उदयपुर, काेटा भी बड़े जाेन हैं। जाेधपुर काे छाेड़कर सभी जाेन में जनवरी व फरवरी की तुलना में मार्च और अप्रैल का जीएसटी कलेक्शन अधिक रहा है।Rajasthan lays out action plan to restart economy | samachar24

राजधानी जयपुर की बात करे तो जनवरी-फरवरी के जीएसटी कलेक्शन की तुलना में मार्च-अप्रैल में 27% से अधिक बढ़त दर्ज की गई। जोधपुर में यह बढ़ोतरी 8%, उदयपुर में 17% और कोटा में 13% रही। इसके अलावा जब पूरा देश में कोरोना की दूसरी लहर जारी थी और ज्यादातर जगह लॉकडाउन था, उस दौरान भिवाड़ी के 3700 से ज्यादा उद्योगों ने अपने स्टाफ को कोरोना से बचाए रखाया और इस दौरान रिकाॅर्ड उत्पादन भी किया।Book Rajasthan Mewad Economy Tour - 6 Nights / 7 Days Tour ...

इसका नतीजा ये रहा की इस पर मिले टैक्स से केंद्र और राज्य दोनों सरकारों की जेबें भर गई हैं। इस मुश्किल हालात में भी भिवाड़ी की कंपनियों ने करीब 1820 करोड़ रुपए का जीएसटी सरकारों को दिया है। राजस्थान को मिले कुल जीएसटी में से अकेले भिवाड़ी से 12% टैक्स भरा गया है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here