डायट की निशुल्क टीईटी कोचिंग में दिखाई Students ने रूचि

0

प्रतियोगी छात्रों के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सबसे महत्वपूर्ण कदम अभ्युदय कोचिंग की तर्ज पर जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान डायट में टीईटी, डीएलएड व बीएड अभ्यर्थियों के लिए ऑनलाइन निशुल्क कोचिंग की शुरूआत हो गई है। 15 अप्रैल को निदेशक बेसिक शिक्षा परीक्षा की तैयारियों से जुड़ा पहला विडियो डायट के अधिकारिक यू टूयब चैनल पर अपलोड करेंगे। इसके बाद से नियमित कक्षाओं का संचालन किया जाएगा। डायट के निदेशक डॉ पवन सचान बताते हैं कि पहले टीईटी अभ्यर्थियों के लिए ऑफलाइन निशुल्क कोचिंग का संचालन किया जाना था लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए अब यू टयूब व गूगल मीट के जरिए ऑनलाइन कोचिंग का संचालन किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि मंगलवार को पहले दिन ही अभ्यर्थियों को काफी अच्छा रूझान देखने को मिला है। करीब 500 से अधिक अभ्यर्थियों में गूगल मीट में शामिल होने के लिए आवेदन किए थे, लेकिन गूगल मीट पर 100 से अधिक लोगों को जोड़ा नहीं जा सकता है, लिहाजा उनके लिए बाद में यू टयूब पर विडियो अपलोड कर दी गई। पहले दिन अभ्यर्थियों को 6 विशेषज्ञों ने मिल कर कैसे परीक्षा की तैयारी करें, कौन सी किताबों का चयन करें, कौन से विषय सबसे महत्वपूर्ण आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

डॉ पवन सचान बताते हैं कि अभ्युदय कोचिंग की तरह डायट में भी प्रतियोगी छात्रों के लिए नि:शुल्क कोचिंग की सुविधा शुरू की गई है। इससे टीईटी, बीएड व डीएलएड की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को काफी मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि 15 दिनों की ऑनलाइन कक्षाओं के बाद अभ्यर्थियों का मॉडल टेस्ट होगा, जो बिल्कुल टीईटी पैटर्न पर अधारित होगा। इससे अभ्यर्थी पढ़ाई के साथ परीक्षा की तैयारी भी अच्छे तरीके से कर पाएंगे। उन्होंने बताया कि हर 15 दिनों पर मॉडल टेस्ट का आयोजन किया जाएगा।

न्यूज सत्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleIPL 2021 ,SRH vs RCB:बैंगलोर का सामना हैदराबाद से, जानिए प्लेइंग XI, पिच और मौसम का हाल
Next articleOppo A35 13MP ट्रिपल कैमरा के साथ, Helio P35 SoC आधिकारिक तौर पर घोषित,जानिए मूल्य और फीचर्स
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here