PM Modi ने पूर्व केंद्रीय मंत्री चमन लाल गुप्ता के निधन पर शोक जताया

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता चमन लाल गुप्ता के निधन पर दुख व्यक्त किया । भाजपा नेता चमन लाल गुप्ता का लंबी बीमारी के बाद जम्मू-कश्मीर में उनके आवास पर निधन हो गया। कोविड संक्रमित होने के बाद उनका सफलतापूर्वक इलाज किया गया था।

87 वर्षीय गुप्ता के दो बेटे और एक बेटी है। भाजपा नेता चमन लाल गुप्ता 13 अक्टूबर, 1999 और 1 सितंबर, 2001 के बीच केंद्रीय राज्य मंत्री रह चुके थे। इसके अलावा, 1 सितंबर, 2001 से 30 जून, 2002 तक उन्होंने नागरिक उड्डयन मंत्रालय, केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय का कार्यभार संभाला था। 1 जुलाई, 2002 से 2004 तक वो रक्षा राज्य मंत्री बनाए गए थे।

एक ट्वीट में, प्रधान मंत्री ने कहा, श्री चमन लाल गुप्ता जी को कई सामुदायिक सेवा प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। वह एक समर्पित विधायक थे और उन्होंने जम्मू-कश्मीर में भाजपा को मजबूत किया। उनके निधन से दुखी हूं। मेरे विचार उनके परिवार के साथ हैं और दुख की इस घड़ी में समर्थक। ओम शांति।

गुप्ता ने 5 मई को कोविड पॉजिटिव पाए गए थे। कोविड के सफल उपचार के बाद रविवार को वो नारायण अस्पताल से लौटे थे। उनकी हालत तड़के अचानक बिगड़ गई और उन्होंने मंगलवार सुबह करीब 5.10 बजे जम्मू स्थित अपने गांधी नगर स्थित आवास पर उन्होंने अंतिम सांस ली।

13 अप्रैल, 1934 को जम्मू में जन्मे, भारतीय जनता पार्टी के इस नेता का पिछले कुछ वर्षों से स्वास्थ्य खराब चल रहा था। वे विभिन्न बीमारियों से पीड़ित थे और शायद ही उन्हें सार्वजनिक रूप से देखा जाता था।

1972 में पहली बार जम्मू-कश्मीर विधान सभा के सदस्य बनने के बाद गुप्ता का पांच दशकों में एक शानदार राजनीतिक जीवन रहा। वह 2008 और 2014 के बीच फिर से विधान सभा के सदस्य थे।

भाजपा नेता 1996 में जम्मू के उधमपुर निर्वाचन क्षेत्र से 11वीं लोकसभा के लिए चुने गए और 1998 और 1999 में 12वीं और 13वीं लोकसभा के लिए फिर से चुने गए।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleChina में 4 नए स्थानीय रूप से प्रसारित कोविड मामले सामाने आए
Next articleDhoni का विश्व कप फाइनल 2011 में लगाया गया विजयी छक्का पसंदीदा शॉट : बटलर
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here