Kharmas 2021: खरमास के दिनों में अपनाएं ये नियम, सभी परेशानियां होंगी दूर

0

खरमास का महीना हिंदू धर्म में बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता हैं सूर्य हर महीने में राशि परिवर्तन करते हैं मध्य दिसंबर में सूर्य देवता धनु राशि में प्रवेश करते हैं इस महीने को खरमास कहा जाता हैं खरमास महीने की शुरुआत 15 दिसंबर से हो चुकी हैं इस समय एक महीने के लिए शुभ काम बंद हो जाते हैं और कोई भी मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं। इस बार खरमास 14 जनवरी 2021 को मकर संक्रांति पर समाप्त होगा। 14 जनवरी सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे और इस दिन मकर संक्रांति का त्योहार भी मनाया जाएगा। इस दिन खरमास का भी अंत होगा। वैसे तो खरमास के महीने में किसी भी तरह के शुभ काम नहीं होते हैं मगर कुछ उपायों से इस महीने का लाभ उठाया जा सकता हैं इसके लिए आपको कुछ नियमों के बारे में जानना जरूरी हैं, तो आज हम आपको उन्हीं नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

सूर्य के धनु राशि में प्रवेश करने से खरमास लगता है इस महीने हर दिन सूर्य को जल अर्पित करने का नियम बना हैं सूर्य देवता की कृपा से आपकी सेहत अच्छी होगी और आपको सुख समृद्धि की प्राप्ति होगी। सूर्योदय से पहले उठकर स्नान कर लें और उगते सूर्य को जल अर्पित करें। तुलसी पौधे को हिंदू धर्म में पवित्र और खास माना गया हैं खरमास के दिनों में तुलसी पूजा करना शुभ होता हैं इस महीने में हर दिन शाम को तुलसी के पौधे पर घी का दीपक जलाएं। इससे आपके जीवन की परेशानियां कम होने लगेंगी।

खरमास का महीना दान और पुण्य का महीना होता हैं। मान्यता है कि इस महीने में किए गए दान का कई गुना फल मिलता हैं इस महीने में अधिक से अधिक जरूरतमंदों और गरीबों की मदद करने की कोशिश करें। इस महीने में साधु सन्यासियों की सेवा करने का भी विशेष महत्व बताया गया हैं। खरमास के महीने में श्री विष्णु की पूजा करना बहुत कल्याणकारी माना जाता हैं श्री विष्णु की विशेष कृपा के लिए खरमास में पड़ने वाली एकादशी का व्रत जरूर करें। खरमास की एकादशी का व्रत करने वाले को बैकुंठ धाम की प्राप्ति होती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here