JJU, Kaursera ने तीन ऑनलाइन मास्टर डिग्री प्रोगामों की घोषणा की

0

ओ.पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी (जेजीयू) ने 19 अप्रैल को वार्षिक कौरसेरा सम्मेलन में कौरसेरा मंच पर तीन ऑनलाइन यूनिवर्सिटी मास्टर्स डिग्री प्रोग्रामों की घोषणा की। नए प्रोग्रामों में मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन इन बिजनेस एनालिटिक्स, मास्टर ऑफ आर्ट्स इन इंटरनेशनल रिलेशन्स, सेक्युरिटी एंड स्ट्रेटेजी और मास्टर ऑफ आर्ट्स इन पब्लिक पॉलिसी शामिल हैं। ओ.पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी के संस्थापक कुलपति (प्रोफेसर) डॉ. सी. राज कुमार ने कहा, “ओ.पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी द्वारा तीन ऑनलाइन मास्टर्स डिग्री प्रोग्रामों की महत्वपूर्ण घोषणा के साथ हमारा उद्देश्य व्यवसाय, सार्वजनिक नीति और अंतर्राष्ट्रीय संबंध के क्षेत्र में ज्ञान प्रदान करना और कौरसेरा के साथ हमारी साझेदारी के माध्यम से एक परिवर्तनकारी, व्यक्तिगत ऑनलाइन लनिर्ंग अनुभव प्रदान करना है। यह राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के ²ष्टिकोण और प्रौद्योगिकी और नवाचार का उपयोग करके शिक्षा के लिए अधिक से अधिक पहुंच प्रदान करने के लिए भारत सरकार के नीतिगत प्रोत्साहन के अनुरूप है।”

उन्होंने आगे कहा, “हम कौरसेरा मंच के माध्यम से शिक्षार्थियों के लिए विस्तृत श्रृंखला की शिक्षा की सुलभता को बढ़ावा देंगे, जो हमें ज्ञान और शिक्षा के लोकतंत्रीकरण में योगदान देने वाले “इंस्टीट्यूशन ऑफ एमिनेंस” होने के मिशन को पूरा करने में भी मदद करेगा। इस संबंध में, हमने शैक्षणिक नवाचार के कार्यालय और ऑनलाइन शिक्षा केंद्र की स्थापना की। जेजीयू अब फिजिकल और व्यक्तिगत सीखने के अनुभवों के माध्यम से कैम्पस के भीतर शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों के लिए ऑन-कैंपस प्रोग्रामों की पेशकश करेगा, साथ ही भारत और दुनिया भर में काम करने वाले प्रोफेशनलों और अन्य छात्रों के लिए कौरसेरा पर ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम भी पेश करेगा जो वर्चुअल लनिर्ंग अनुभवों के माध्यम से शिक्षा प्राप्त करेंगे।”

ओप जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी के संस्थापक उप-कुलपति सी राज कुमार ने कहा, हम व्यापार, सार्वजनिक नीति और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के क्षेत्र में ज्ञान प्रदान करना चाहते हैं और कौरसेरा के साथ हमारी साझेदारी के माध्यम से एक परिवर्तनकारी, व्यक्तिगत ऑनलाइन सीखने का अनुभव प्रदान करते हैं।

अब शारीरिक और व्यक्तिगत सीखने के अनुभवों के माध्यम से एक परिसर पारिस्थितिकी तंत्र के भीतर शिक्षा का पीछा करने वाले छात्रों के लिए दोनों परिसर में कार्यक्रमों की पेशकश करेगा, साथ ही साथ भारत और दुनिया भर के कामकाजी पेशेवरों और अन्य छात्रों के लिए कौरसेरा पर ऑनलाइन डिग्री कार्यक्रम जो होगा आभासी सीखने के अनुभवों के माध्यम से शिक्षा प्राप्त करना है।

कौरसेरा के चीफ कंटेंट ऑफिसर बेट्टी वैंडेनबॉश ने कहा, “हम कौरसेरा के मंच पर भारतीय विश्वविद्यालय से पहला डिग्री प्रोग्राम शुरू करने के लिए जेजीयू के साथ साझेदारी करने को लेकर उत्साहित हैं। डिग्री करियर को पूरा करने की नींव होती है, और इन नए कार्यक्रमों के माध्यम से, छात्र अधिक मांग वाले क्षेत्र में अपना खास मुकाम हासिल कर सकते हैं।”

इस साझेदारी के साथ जेजीयू, येल विश्वविद्यालय, मिशिगन विश्वविद्यालय, पेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय और लंदन के इंपीरियल कॉलेज सहित 150 प्रमुख विश्वविद्यालयों के रैंक में शामिल हो गया है जो कौरसेरा पर ऑनलाइन सामग्री और क्रेडेंशियल प्रदान करते हैं। कौरसेरा पर 190 देशों में 77,00,000 लाख से अधिक शिक्षार्थी हैं जो अब जेजीयू के डिग्री कार्यक्रमों में आवेदन कर सकेंगे।

छात्र सितंबर 2021 कोहार्ट के लिए अब बिजनेस एनालिटिक्स में एमबीए, इंटरनेशनल रिलेशन्स सेक्युरिटी और स्ट्रेटेजी में एम.ए. और पब्लिक पॉलिसी में एम.ए. के लिए आवेदन कर सकते हैं।

–आईएएनएस

SHARE
Previous articleCorona Oxygen Shortage :ऑक्सीजन की कमी से मरे भोपाल में 10 मरीज मचा हंगामा
Next articleपंचायत चुनाव : गौरा ब्लॉक के बूथों पर जमकर मतदान
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here