फ्लिपकार्ट ने तीन कंपनियों के जरिए 1.4 अरब डॉलर की राशि जुटाई

0
The Flipkart raised 1.4 billion through three companies
The Flipkart raised 1.4 billion through three companies

फ्लिपकार्ट ने सोमवार को कहा कि कंपनी में सेनेंट, ईबे और माइक्रोसॉफ्ट ने 1.4 अरब डॉलर का निवेश किया है।

फ्लिपकार्ट के पहले निवेशकों में टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट, निस्पर्स ग्रुप, एक्सेल पार्टनर्स और डीएसटी ग्लोबल शामिल हैं। “हम खुश हैं कि टेनेंट, ईबे और माइक्रोसॉफ्ट आदि को हमारे साथ भागीदारी करने के लिए चुना है। हमने इन भागीदारों को अग्रणी उद्योगों के अपने लंबे इतिहास के आधार पर चुना है। और उनमें से प्रत्येक को अनूठी विशेषज्ञता और अंतर्दृष्टि मिलती है। फ्लिपकार्ट के संस्थापक सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने एक बयान में कहा कि यह सौदा प्रौद्योगिकी के जरिए भारत में वाणिज्य के परिवर्तन को तेज करने के लिए हमारे संकल्प की पुष्टि करता है।

मार्टिन लाऊ के  टेनेंट प्रेसिडेंट ने अपने बयान में कहा कि चीन में इंटरनेट मूल्यवर्धित सेवाओं के अग्रणी प्रदाता Tencent, एक सामरिक निवेशक के रूप में शामिल है। जो सोशल नेटवर्किंग और ई-कॉमर्स को जोड़ने में अनुभव लाता है “यह रणनीतिक साझेदारी भारत में ई-कॉमर्स और भुगतान में रोमांचक अवसरों में भाग लेने के लिए टेनेंट को सक्षम बनाता है। हम फ्लिपकार्ट को पूरे भारत में उपयोगकर्ताओं के लिए सम्मोहक अनुभव प्रदान करने और इंटरनेट पारिस्थितिक तंत्र के विकास में योगदान देने के लिए तत्पर हैं।”

ईबे इंडिया अब फ्लिपकार्ट समूह का हिस्सा है

ईबे फ्लिपकार्ट के साथ एक वाणिज्यिक समझौते के साथ है फ्लिपकार्ट में इक्विटी हिस्सेदारी के बदले ईबे अपने eBay.in व्यवसाय में नकदी निवेश कर रहा है और फ्लिपकार्ट को बेच रहा है। EBay.in फ्लिपकार्ट के एक भाग के रूप में एक स्वतंत्र इकाई के रूप में काम करना जारी रखेगा। ईबे इंक के अध्यक्ष और सीईओ डेविन वेनिग ने कहा, “ईबे की एक प्रमुख वैश्विक ई-कॉमर्स कंपनी और फ्लिपकार्ट के बाजार की कमान के संयोजन से हमें भारत में दोनों कंपनियों के लिए अवसर बढ़ाने और अधिकतम करने की अनुमति मिलेगी।”

फ्लिपकार्ट और ईबे ने एक अनन्य सीमा पार व्यापार समझौते पर भी हस्ताक्षर किए हैं, जिसके परिणामस्वरूप फ्लिपकार्ट के ग्राहक ईबे पर वैश्विक आदान-प्रदान की व्यापक श्रेणी तक पहुंच जाएंगे। जबकि ईबे के ग्राहकों को फ्लिपकार्ट विक्रेताओं द्वारा प्रदान की गई अद्वितीय भारतीय सूची तक पहुंचेंगे। इस प्रकार, फ्लिपकार्ट पर विक्रेताओं को विश्व स्तर पर अपनी बिक्री बढ़ाने का एक अवसर मिलेगा।

फ्लिपकार्ट के संस्थापकों ने कहा कि यह फ्लिपकार्ट और भारत के लिए एक “मील का पत्थर सौदा” साबित होगा और इसका भारतीय स्टार्टअप की तकनीकी कौशल, अभिनव मानसिकता और पारंपरिक बाजारों को बाधित करने की अपनी क्षमता के रूप में स्वागत किया जाएगा।

फ्लिपकार्ट ओपेराटन के अपने दसवें वर्ष का जश्न मना रहा है और ग्रुप ने माइंट्रा, जबॉन्ग और फोनपे को शामिल किया है – एक यूपीआई-आधारित ऐप जो कैशलेस लेनदेन को सक्षम बनाता है।

SHARE
Previous articleऑनर 8 का मिडनाइट ब्लैक वैरिएंट अमेज़ॅन पर उपलब्ध, कीमत 399 की जगह 277 यूएस डाॅलर
Next articleपाकिस्तान को एक इशारे पर कुचल देना चाहता था भारत का ये पूर्व PM!
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here