Reliance Jamnagar में 90 पैंट्रीज को स्मार्ट स्नैकिंग में बदलेगी ‘दालचीनी’

0

भारत की पहली चौबीसों घंटे सेवाएं प्रदान करने वाली स्नैकिंग डेस्टिनेशन दालचीनी ने बुधवार को कहा कि वह रिलायंस इंडस्ट्रीज जामनगर में 90 मानवयुक्त पैंट्रीज को संपर्क रहित और डिजिटल रूप से सक्षम कियोस्क में बदल देगी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि 20,000 एकड़ में फैले दुनिया के सबसे बड़े विनिर्माण स्थल पर, दालाचीनी अब कैफे-पैक से लेकर रेडी-टू-ईट और प्रीमियम उत्पादों की पेशकश करेगी।

दालचीनी की सह-संस्थापक प्रेरणा कालरा और विद्या भूषण ने एक बयान में कहा, “आरआईएल जामनगर में दालचीनी को लॉन्च करना हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट है और स्मार्ट टेक्नोलॉजी की अगुवाई वाले इनोवेशन के महत्व को साबित करता है, जिसकी वजह से रिलायंस ने अपनी पैंट्री में बड़े पैमाने पर बदलाव करने का विकल्प चुना है।”

हम इस परियोजना को शुरू करने के लिए महीनों से तैयारी कर रहे हैं और निकट भविष्य में अन्य विनिर्माण सेटअपों के लिए इसे रोल-मॉडल बनाने के लिए तैयार कर रहे हैं।

दालचीनी की आईओटी सक्षम ‘फिजिटल’ (फिजिकल प्लस डिजिटल) मूल्य वर्धित सुविधाओं और क्षमताओं के साथ वेंडिंग मशीनें अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वियों के बीच स्वाभाविक पसंद रही हैं, क्योंकि वे अत्याधुनिक स्मार्ट वेंडिंग मशीनों के साथ लगभग शून्य मानव हस्तक्षेप की पेशकश करती हैं।

कोविड-19 ने संगठनों और सुविधा प्रमुखों को अलग तरह से सोचने और कर्मचारियों को एफ एंड बी सेवाएं प्रदान करने के लिए नए नवीन तरीकों के अनुकूल बनाया है, जो अधिक सुरक्षित और स्वास्थ्यकर है।

आरआईएल जामनगर भी इस चुनौती से उबर गया है और उसने अपनी पैंट्री को 100 प्रतिशत कैशलेस, ऐप-आधारित और संपर्क रहित तरीके में बदल लिया है।

कंपनी ने कहा कि दालचीनी की वेंडिंग मशीनें कार्यालय के भोजन के लिए एक सुरक्षित, संपर्क रहित ²ष्टिकोण प्रदान करती हैं, जो न केवल स्वादिष्ट हैं, बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी अच्छी हैं। दालचीनी की शुरुआती बिक्री रुझानों के आधार पर अपने मेनू को अनुकूलित करने में सक्षम है।

news source आईएएनएस

SHARE
Previous articleसौर ऊर्जा से ही चार्ज किया जाएगा, टोयोटा की पहली इलेक्ट्रिक SUV
Next articleभीलवाड़ा:न्यौता अब ना में बदला:गृह प्रवेश, मुंडन व जागरण की अलग-अलग अर्जियां सच्चाई पता लगी, 20-20 को ही बुलाने की मंजूरी
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here