Chidambaram ने केंद्रीय विस्टा परियोजना को सही ठहराने के लिए भाजपा की खिंचाई की

0

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने मंगलवार को केंद्रीय विस्टा परियोजना का मुद्दा उठाते हुए भाजपा पर पलटवार किया है। ट्वीट्स की एक श्रृंखला में, उन्होंने कहा, “भाजपा प्रवक्ता स्वास्थ्य ढांचे में सुधार के लिए धन का उपयोग किए बिना विज्ञापनों पर करोड़ों रुपये खर्च करने के साथ दिल्ली सरकार पर आरोप लगाते हैं। ये आलोचना उचित है।”

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, भाजपा सरकार केंद्रीय विस्टा के लिए सिर्फ 20,000 करोड़ रुपये खर्च कर रही है, जिससे प्रधानमंत्री का घर बनेगा। ये आलोचना अनुचित है।”

एक अन्य ट्वीट में, कोविड प्रबंधन के लिए सरकार पर हमला करते हुए, चिदंबरम ने कहा, “महामारी प्रबंधन के तीन सिद्धांत हैं – पहला, किसी भी चीज की कमी को नकार देना। अगर कमी की कई मीडिया रिपोर्टें हैं, तो उसे ज्यादा सख्ती से इनकार करते हैं। दूसरा कम लोगों के परीक्षण से, नए संक्रमणों की रिपोर्ट कम। तीसरा, दाह संस्कार और दफन किए लोगों में कोविड से संबंधित मौतें कम हैं, टीएफआर की रिपोर्ट भी कम। ”

लुटियन जोन में सेंट्रल विस्टा परियोजना की आलोचना करने में कांग्रेस सबसे आगे रही है और उसने आरोप लगाया है कि भाजपा ने अपनी प्राथमिकताओं को खो दिया है । कांग्रेस का मानना है कि टीकाकरण प्रक्रिया और कोविड प्रबंधन के लिए एक ही पैसा खर्च किया जाना चाहिए।

कांग्रेस वकिर्ंग कमेटी ने सोमवार को अपने प्रस्ताव में कहा था कि ऐसे समय में जब देश के संसाधनों को टीकाकरण कवरेज और आवश्यक दवाओं और ऑक्सीजन की आपूर्ति के विस्तार को सुनिश्चित करने के लिए समर्पित होना चाहिए, मोदी सरकार राष्ट्रीय राजधानी में प्रधानमंत्री की व्यक्तिगत वैनिटी परियोजना को जारी करते हुए पैसे की बबार्दी में लिप्त है। यह देश की जनता के लिए अपमान और असंवेदनशीलता की ऊंचाई है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleRussian School Attack:रूस के स्कुल में हुआ बड़ा हमला,अब तक करीब दर्जन लोग की हुई मौत
Next articleमहामारी का डटकर सामना कर रहें है Himachal Pradesh के आदिवासी
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here