सीवान:काेराेना संक्रमित 11 लोगों की गयी जान, सभी में थी ऑक्सीजन लेवल कम होने की शिकायत

0

जिले में कोरोना का कहर जारी है। इलाज के साथ-साथ मृतकों का आंकड़ा भी विभाग के पास नहीं है। किट की कमी के कारण जांच प्रक्रिया सुस्त पड़ गयी है। विभाग द्वारा प्रतिदिन ढाई से तीन हजार लोगों की जांच एंटीजन किट से करने का लक्ष्य रखा गया है, लेकिन अबतक इस लक्ष्य को नहीं पाया जा सका। मंगलवार को कोविड जांच में 201 व्यक्ति पॉजिटिव मिले। इलाज के दौरान कोरोना संक्रमित 11 लोगों की मौत हो गयी। इनमें चार लोगों की मौत डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर महराजगंज में हुई है। इनमें बड़हरिया प्रखंड के चाप कन्हौली निवासी स्व. रामप्रीत मांझी के 50 वर्षीय पुत्र ओमप्रकाश मांझी, गोरेयाकोठी प्रखंड के हेतिमपुर निवासी रामेश्वर शर्मा की 56 वर्षीय पत्नी श्यामपति देवी, जीरादेई प्रखंड के शंकरपुर निवासी काशीनाथ सिंह के 55 वर्षीय पुत्र पवन कुमार सिंह तथा गोपालगंज के विसुनपुरा निवासी 43 वर्षीय कौशल श्रीवास्तव की मंगलवार को महाराजगंज डीसीएचसी में उपचार के क्रम में मौत हो गयी। मंगलवार की शाम में सदर अस्पताल में इलाज के दौरान बड़हरिया के एक 32 वर्षीय युवक चंदन की मौत उपचार के दाैरान हो गयी।
मंगलवार को जिले में 1365 लोगों का एंटीजन किट से जांच हुई। जांच में 158 लोग पॉजिटिव मिले। वहीं पटना आरएमआरआई से आयी जांच रिपोर्ट में 26 लोग कोरोना संक्रमित मिले। सदर अस्पताल के ट्रू नेट लैब में जांच के दौरान 17 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले। एंटीजन जांच में आंदर 05,बड़हरिया 18,गोरेयाकोठी 11,गुठनी 03,नौतन में 01,सिसवन 01, हसनपुरा 01,हुसैनगंज 01, मैरवा 09,दरौली 02,दरौंदा में 04,रघुनाथपुर 15,महाराजगंज 10,भगवानपुर हाट 08,सीवान सदर 08,लकड़ी नवीगंज 08,पचरूखी 23,सीवान जंक्शन 01 तथा सदर अस्पताल 29 व्यक्ति पॉजिटिव मिले। इस दौरान 309 व्यक्तियों का आरटीपीसीआर जांच एवं 141 व्यक्तियों का ट्रू नेट जांच के लिए सैंपल लिया गया।जिले में कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है। रोज इस संक्रमण से लोगों की जान जा रही है। इससे लोगों के बीच दहशत का महौल हो गया है। ऑक्सीजन लेवल कम होने के कारण इलाज के दौरान भी ऐसे लोगों की भी मौत हो रही है। 24 घंटे के दौरान शहर के डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर डायट व सदर अस्पताल स्थित आईसीयम में 6 लोगों की मौत हो गई है। हालांकि, सोमवार की शाम में डायट केन्द्र को फिर से चालू करने के बाद से आईसीयू में मरीजों को भर्ती करने का काम बंद कर दिया गया है। पिछले 24 घंटे के दौरान आईसीयू में दो लोगों की मौत हुई थी। इसमें खगौरा के हकीम का पुत्र अली अहमद व आंदर प्रखंड के जियांय के रविंद्र बैठा का पुत्र आशा बैठा शामिल है।शहर के डायट केन्द्र के चालू होने के दूसरे दिन ही सभी बेड पर मरीज भर्ती हो गए। इस केन्द्र में 100 बेड लगाया गया है। लेकिन 65 बेड पर ही मरीज भर्ती किए गए है। कारण कि इतने बेड पर ही आॅक्सीजन की व्यवस्था है। इस वजह से इतने बेड पर ही डॉक्टरों ने भर्ती लिया है। अन्य बेड पर भर्ती करने के बाद उन्हे ऑक्सीजन की व्यवस्था करना मुश्किल हो जाएगा। एक मरीज को जब डायट केन्द्र में बेड नहीं मिल रहा था तो उसके घर की महिला अभिभावक सदर अस्पताल आ गई। वहां पर स्वास्थ्य प्रबंधक से अपनी समस्या बताई। स्वास्थ्य प्रबंधक के हस्तक्षेत्र के बाद मरीज को डायट में भर्ती किया गया।सुलतानपुर गांव में मंगलवार को कोरोना के चार मिलने से ग्रामीणों में दहशत है। प्रशासन ने चारों के घरों के आसपास माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। बीडीओ सुलेखा कुमारी, थानाध्यक्ष अौर स्वास्थ्य प्रबंधक मधुरेंद्र कुमार ने गांव का दौरा किया। स्वास्थ्य प्रबंधक मधुरेंद्र कुमार ने बताया कि 29 अप्रैल को चारों का सैंपल लिया गया था। चारों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। आसपास के लोगों से कहा गया है कि पॉजिटिव सदस्यों के घरवालों से दूरी बनाकर रहें। कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों के बारे में बताया गया कि सर्दी-बुखार-खांसी होने पर उन्होंने जांच करायी थी। ग्रामीणों को हिदायत दी गयी है कि गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here