रोहतास: में खनिज का अकूत भंडार, उद्योग को बढ़ावा देने से पलायन पर लगेगा ब्रेक

0

कोरोना महामारी को लेकर अन्य राज्यों में रह रहे लोग धीरे धीरे वापस आने लगे हैं तथा आसपास ही अब रोजगार की तलाश में जुट गए हैं। सासाराम से बीजेपी सांसद छेदी पासवान ने सरकार को पत्र लिख उद्योग लगाने व खनन कार्य शुरू कराने की मांग की है।ऐसे में एक बार फिर जिले के बंद पड़े उद्योगों को लेकर चर्चा तेज हो गई हैं।

सांसद का कहना है कि अपने यहां के बंद पड़े उद्योग धंधे फिर से अगर शुरू हो जाएं तो रोजी रोटी के लिए अन्य जगह जाने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। इसके शुरू हो जाने से मजदूरों के साथ -साथ छोटे से लेकर बड़े व्यापारियों को लाभ मिलने लगेगा। रोहतास व नौहट्टा प्रखंड में कैमूर पहाड़ी की तलहटी में बॉक्साइट तथा अभ्रख ,पायराइटस, पोटैशियम जैसे खनिज पदार्थ का भंडार है। कैमूर जिला के अधौरा ब्लॉक के झरपा तथा घेरवानिया गांव में बॉक्साइट तथा अभ्रक की संभावनला है। जीएसआइ की एक रिपोर्ट के मुताबिक अधौरा में बॉक्साइट की 11 कैपिग का पता चला है। साथ ही साथ सरकार के राजस्व में भी वृद्धि होगी। छेदी पासवान ने कहा कि भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण पर्षद (जीएसआइ) ने भी माना है की जिले में चूना-पत्थर के अलावा बॉक्साइट, अभ्रख ,पायराइटस, पोटैशियम जैसे खनिज पदार्थ का अकूत भंडार है । जिसकी मोटाई तीन से सात मीटर है। चूना पत्थर रोहतास के जारादाग तथा रामडिहरा के बीच 75 किलोमीटर की लंबाई तक फैला है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here