मंडी:कोरोना से लड़ाई में राज्यपाल की विवि के कुलपतियों से सहयोग की अपील

0

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आज राज्य के छह सरकारी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से बाचतीत करते हुए कोविड महामारी की दूसरी लहर से उत्पन्न स्थितियों पर चर्चा की। उन्होंने विश्वविद्यालय स्तर पर की गई तैयारियों की जानकारी ली और निर्देश दिए कि सामाजिक उत्तरदायित्व का पालन करने के अतिरिक्त वह शिक्षण अनुसूचि को भी प्राप्त करने के प्रयास करें। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षण संस्थानों के विद्यार्थियों को जिला प्रशासन को सहयोग देने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। युवा टीकाकरण और मास्क के उपयोग अभियान के प्रति लोगों को जागरूक करने और कोविड से बचाव से संबंधित अन्य जानकारी साझा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। कोविड महामारी से लड़ने में टीकाकरण एक प्रभावी हथियार साबित हो रहा है और इस अभियान को तेजी दी जानी चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों को जिला रेडक्राॅस के माध्यम से भी जरूरतमंदों की सहायता करने के लिए आगे आने को कहा।

दत्तात्रेय ने कहा कि ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को और अधिक सुदृढ़ बनाना चाहिए और प्रयास किए जाएं कि यह कार्य निर्बाध रूप से जारी रहे। उन्होंने सभी विश्वविद्यालयों से आपसी सहयोग एवं समन्वय के साथ कार्य करने और शोध, नवीनीकरण व प्रौद्योगिकी को एक-दूसरे के साथ बांटने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि समाज में कोविड महामारी के कारण तनाव के मामले बढ़ रहे हैं इसलिए विश्वविद्यालय स्तर पर परामर्श सुविधा बढ़ाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि विशेष तौर पर कृषि और बागवानी विश्वविद्यालय किसानों की सहायता कर सकते हैं।राज्यपाल के सचिव राकेश कंवर ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया। प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला के कुलपति प्रो. सिकन्दर कुमार, डाॅ. वाई एस परमार बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी के कुलपति डाॅ. परमिन्दर कौशल, कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर के कुलपति डाॅ. एच.के चौधरी, प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर के कुलपति प्रो. एस.पी बंसल, सरदार वल्लभ भाई पटेल क्लस्टर विश्वविद्यालय मंडी के कुलपति डाॅ. सीएल चंदन और अटल चिकित्सा एवं शोध विश्वविद्यालय मंडी के कुलपति डाॅ. सुरेंद्र कश्यप ने बैठक में भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here