भीलवाड़ा : यूआईटी ने फिर से बनाने का दिया नोटिस, निर्माण नहीं कराने पर जमा कराने होंगे 98 हजार रुपए

0

एक पेट्रोल पंप संचालक ने करीब 50 फीट डिवाईडर तोड़ दिया। यूआईटी ने सरकारी संपति को नुकसान पहुंचाने के मामले में संचालक को नोटिस जारी किया। डिवाईडर को फिर से बनाने की लागत 98 हजार रुपए यूआईटी में जमा कराने के निर्देश दिए। यूआईटी सचिव रजनी माधीवाल ने बताया कि संपर्क पोर्टल पर शिकायत प्राप्त हुई कि चितौडग़ढ़ रोड प्रगति पथ पर स्थित न्यारा पेट्रोल पंप के सामने बने डिवाईडर को संचालक ने करीब 50 फीट तुड़वा कर राजकीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। जिसमें पाया कि पेट्रोल पंप के सामने बने डिवाइडर को करीब 50 फीट लंबाई में रातोरात तोड़ कर रास्ता बना दिया। जो सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का मामला बनता है। नोटिस के माध्यम से यूआईटी ने संचालक को डिवाइडर का फिर से निर्माण करने या डिवाइडर की लागत 98 हजार रुपए यूआईटी में जमा कराने के निर्देश दिए। सात दिन में कार्यवाही नहीं करने पर पेट्रोल पंप संचालक के खिलाफ राजकीय संपति को नुकसान पहुंचाने का मामला दर्ज कराने की चेतावनी दी।

सरकारी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर लेने पर यूआईटी ने नोटिस जारी किया है। बापूनगर योजना में एक भूखंड पर नियमानुसार, भूखंड पर 15 फीट आगे व 10-10 फीट साइड व पीछे सेट बेक छोड़ना था। लेकिन, भूखंड धारक की ओर से आवंटन शर्तों का उल्लंघन करते हुए बिना किसी प्रकार का सेट बेक के आवासीय भूखंड पर निर्माण किया जा रहा है।

साथ ही भूखंड व सड़क के बीच स्थित स्ट्रीप ऑफ लैंड पर अवैध रूप से पक्का निर्माण कर यूआईटी की जमीन पर अतिक्रमण किया जा रहा है। नोटिस जारी करके अतिक्रमण हटा लेने के निर्देश दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here