गो एयर आईपीओ फाइल और निवेश के लिये तैयार

0

IPO से कमाई का एक और मौका आने वाला है. बजट एयरलाइंस गोएयर (GoAir) ने 3,600 करोड़ रुपये का प्रारम्भिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) जारी करने के लिए बाजार नियामक सेबी (Sebi) के पास शुरुआती दस्तावेज जमा करा दिए हैं। कंपनी ने अपने ब्रांड नाम को बदलकर ‘गो फर्स्ट’ (Go First) किया है। Wadia समूह द्वारा प्रवर्तित यह एयरलाइन बीते 15 साल से ऑपरेट कर रही है। IPO से मिलने वाली रकम का इस्तेमाल शुरुआती तौर पर कर्ज के पेमेंट के लिए किया जाएगा।

Sebi के पास जमा मसौदा दस्तावेज के मुताबिक एयरलाइन शेयरों की बिक्री के जरिए 3,600 करोड़ रुपये तक जुटाएगी।कंपनी ने कहा है कि IPO से मिलने वाली रकम का इस्तेमाल उसके बकाए कर्ज का पेमेंट में किया जाएगा। इसके साथ ही विमानों के पट्टा किराया पेमेंट और भविष्य के रखरखाव में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।इसके अलावा IPO की रकम का इस्तेमाल ईंधन कंपनी इंडियन आयल कार्पोरेशन (Indian oil Corporation) के बकाये का भुगतान करने के लिए भी किया जाएगा।

कंपनी के अन्य सामान्य कार्यों में भी इसका इस्तेमाल होगा। मार्च 2020 में खत्‍म कारोबारी साल में GoAir को 1,270.74 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था जबकि उसकी कुल आय 7,258.01 करोड़ रुपये रही थी।Airline को गोएयर से गोफर्स्ट के तौर पर नया ब्रांड नाम देने के बाद सीईओ कौशिक खोना ने कहा कि पिछले 15 साल के चुनौतीपूर्ण समय में एयरलाइन लगातार मजबूती के साथ खड़ी रही है।

इससे पहले पावरग्रिड इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (इनविट) (powergrid InvIT IPO April 2021) का IPO आया और इसे आखिरी दिन 4.83 गुना आवेदन मिला। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़े के मुताबिक 7,735 करोड़ रुपये के इश्यू में 42,54,25,000 यूनिट के लिये 2,05,40,48,700 बोलियां मिली थीं। Power Grid Infrastructure Investment Trust का IPO 29 अप्रैल को खुला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here