युवा कूल दिखने के चक्कर में कर रहें हैं अपने शरीर को बर्बाद

0
58

जयपुर। आपने कई ऐसे लड़को को देखा होगा जो अपने आपको बहुत ही कूल  और डुड बताने के लिए सिगरेट पीते है। कई लोग लड़कियों को आकर्षित करने के लिए इसका उपयोग करते है। जब वैज्ञानीकों ने इस पर शोध किया तो इसमें 20-35 आयुवर्ग के 23 प्रतिशत युवा ‘कूल’ दिखने के लिए धूम्रपान करते पाये गये। और साथ ही इसके विपरीत अधिक उम्र के 53 प्रतिशत लोगों का मानना है कि धूम्रपान व्यक्तिगत मामला है।

कई शोधकर्ताओँ का मानना है की व्यक्ति की भावनात्मक सोच धूम्रपान का एक मुख्य कारक बनी हुई है। अधिकतर युवा समूह तनाव से निजात पाने के लिए धूम्रपान करते हैं। लोगों के जीवन की कुछ घटनाओं का प्रभाव पड़ता है, जिनके चलते व्यक्ति काफी धूम्रपान करने लगता है। कई लोग नौकरी पाने के बाद धूम्रपान करते है। इसमें महिलायें भी कम नहीं है धूम्रपान महिलायें भ बहुत करती है। कई लोगों ने धूम्रपान छोड़ने के लिए कोशिश भी की लेकीन अपने आप कर ना तो उन्हें भरोसा थी और ना ही उनके वश में था।

आपको जानकर हैरानी तो जरूर होगी की जो लोग धूम्रपान नियमित करते है और अवसाद से निजात पाने के  लिए करते है वो ही लोग अवसाद से अधिक ग्रस्त रहते है। क्योंकी धूम्रपान उनके सोचने समझने की क्षमता को कमजोर कर देते है। और लोग  कूल दिखाने के चक्कर में अपने शरीर के चिथड़े खुद ब खुद की उठा देते है। धूम्रपान युवाओं और किशोरों पर गहरा असर डालता है साथ ही गंभीर बीमारियों को भी जन्म देता है। अपनी सुखद एवं स्वस्थ जीवन को बर्बाद कर देता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here