चीन की इस हाइपरसोनिक विंड सुरंग से मात्र 2 घंटे में अमेरिका पहुंचा जा सकेगा

चीन की इस हाइपरसोनिक विंड सुरंग से मात्र 2 घंटे में अमेरिका पहुंचा जा सकेगा इस सुरंग का इस्तेमाल हाइपरसोनिक विमानों को परीक्षण किया जाएगा

0
66

जयपुर। चीन की बात करे तो वह जनसंख्या के मामले में अव्वल होने के साथ साथ तकनीकी विकास में भी सबसे आगे हैं। नित नए आविष्कार करके दुनिया को चौंकाने वाले चीन ने इस बार भी हर बार की तरह की नया प्रयोग करके सारी दुनिया को चौंका दिया है। दरअसल चीन ने दुनिया की सबसे शक्तिशाली और तेज हाइपरसोनिक विंड टनल को विकसित करने का दावा किया है।

इसे भी देख लीजिए:- जानिए आखिर क्या अंतर होता है एक एलईडी औऱ सीएफएल में?

हालांकि फिलहाल यह परियोजना अपने प्रारंभिक दौर में है, लेकिन जिस गति से चीन काम करता है, उसे देखते हुए तो यही लग रहा है कि कुछ ही सालों में यह सुरंग बनकर तैयार हो जाएगी। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि यह सुरंग हाइपरसोनिक गति से उड़ने वाले विमानों को सुरक्षित रास्ता देगी। यह सुरंग इतनी ताकतवर होगी कि इसमें ध्वनि की रफ्तार से भी 25 गुना तेज गति से उड़ने वाले विमानों का परीक्षण किया जा सकेगा।

इस विंड टनल की मदद से उड़ने वाले विमान के जरिए चीन से महज दो घंटे में अमेरिका पहुंचा जा सकेगा। इस सुरंग के बनने से चीन नई पीढ़ी के सुपर फास्ट विमान को विकसित कर पाएगा। रिपोर्ट के अनुसार इन  हाइपरसोनिक हवाई जहाजों की रफ्तार इतनी तेज हो जाएगी कि दुनिया को नापने का काम बच्चों को खेल लगने लगेगा। फिलहाल बीजिंग से न्यूयॉर्क पहुंचने में 12 से 14 घंटे का वक्त लगता है, मगर बाद में यह समय केवल दो घंटे तक ही सीमित हो जाएगा।

इसे भी देख लीजिए:- इस तकनीक की मदद से नेता इतने शानदार भाषण दे पाते…

चीनी सरकार ने खास तौर पर इस सुरंग का इस्तेमाल तेज गति से उड़ने वाले हाइपरसोनिक विमानों का परीक्षण करने के लिए आदेश जारी कर दिए हैं। बता दे कि ध्वनि की गति से तेज रफ्तार को सुपरसोनिक कहा जाता है, वही सुपरसोनिक से भी 25 गुना अडवांस्ड तकनीक को हाइपरसोनिक कहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here