Yoga Tips: योगासन प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाकर तनाव को कम करते हैं

0

दुनिया भर में कोरोना को रोकने के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने की सलाह दी जाती है ताकि शरीर में इन वायरस से लड़ने की ताकत हो। अपने आहार का ध्यान रखना और योग करना भी महत्वपूर्ण है। प्रतिदिन खुली हवा में योग करने से प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है, हड्डियों, मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और शरीर को ताकत मिलती है। इन 3 योगासनों को करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद मिलती है।

1 धनुरासन – इस आसन को करने के लिए शरीर को धनुष के आकार में मोड़ा जाता है। प्रतिदिन धनुरासन करने से प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है और शरीर में ताजगी बनी रहती है। इससे तनाव कम होता है और आध्यात्मिक शांति और खुशी मिलती है। इस आसन को करने के लिए जमीन पर चटाई बिछाकर पेट के बल लेट जाएं। फिर पैरों को पीछे की ओर मोड़ें और दोनों हाथों से पकड़ें। गहरी सांस लें और धीरे-धीरे छाती और पैरों को ऊपर उठाएं। चेहरे को सामने रखें और अपनी सामर्थ्य के अनुसार पैरों को खींचे। आप धनुष का आकार बनाना चाहते हैं। थोड़ी देर के लिए उस स्थिति में रहें और वापस सामान्य हो जाएं।Dhanurasana Benefits And Precautions - धनुरासन है आपके लिए बेहद लाभकारी,  जानें इसे करने का तरीका - Amar Ujala Hindi News Live

2 ब्रिज पोज – इस आसन को जमीन पर पीठ के बल लेटकर किया जाना है। यह आसन तनाव को कम करके रक्तचाप को नियंत्रित करता है। थायराइड के रोगियों के लिए यह आसन फायदेमंद है। इसे करने के लिए अपनी पीठ और कंधों को जमीन पर सीधा रखते हुए अपनी पीठ के बल लेट जाएं। अपने शरीर का सारा भार पैरों पर डालें। धीरे से शरीर को घुटनों तक उठाएं। 4 से 5 सेकंड तक इस स्थिति में रहें और फिर गहरी सांस लें और फिर सामान्य अवस्था में आ जाएं और इस आसन को दोहराएं।Health Benefits Of Setu Bandhasana Bridge Pose - थायरॉएड की समस्या से निजात  पाने के लिए करें यह योगासन - Amar Ujala Hindi News Live

3 वृक्षासन- इस आसन को करना फायदेमंद है क्योंकि यह मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूत बनाता है। रीढ़ को मजबूत करता है। प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। शरीर को संतुलन में रखने से तनाव कम होता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं, एक घुटने को मोड़ें और पैर को दूसरे पैर की जांघ पर रखें, फिर हाथ को सिर के ऊपर लाएं और प्रणाम करें। लंबे और खड़े गहरी साँस लेना। इस अवस्था में कुछ समय तक रहें और वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं। दूसरे पैर के साथ भी ऐसा ही करें।

इस आसन को करने से न केवल आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी बल्कि तनाव को कम करने में भी मदद मिलेगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here