मध्य प्रदेश का योद्धास्थल संग्रहालय देश में पहले स्थान पर

0
108

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित योद्धास्थल देश के शीर्ष संग्रहालय में शुमार किया गया है। दूसरे स्थान पर जम्मू एवं कश्मीर के लेह में स्थित हॉल ऑफ फेम और तीसरे स्थान पर पश्चिम बंगाल के कोलकाता स्थित विक्टोरिया मेमोरियल हॉल है। ट्रिपएडवाइजर ने पूरी दुनिया और भारत के ट्रैवलर्स चॉइस अवार्ड विजेता संग्रहालयों के नामों की घोषणा की है।

ट्रिपएडवाइजर के मुताबिक, चौथे स्थान पर महाराष्ट्र के पुणे स्थित दर्शन संग्रहालय, पांचवें स्थान पर मध्य प्रदेश के भोपाल स्थित मध्य प्रदेश आदिवासी संग्रहालय, छठे स्थाल पर हरियाणा के तौरू स्थित हेरीटेज ट्रांसपोर्ट म्यूजियम, सातवें स्थान महाराष्ट्र के शिर्डी स्थित दीक्षितवाडा संग्रहालय, आठवें स्थान पर पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद स्थित हजारीद्धारी पैलेस म्यूजियम, नौवें स्थान पर राजस्थान के उदयपुर स्थित बागोरे की हवेली और 10वें स्थान पर दिल्ली स्थित गांधी स्मृति है।

तीन भारतीय संग्रहालयों ने एशिया सूची में जगह बनाई है- योद्धा स्थल (13वां), हॉल ऑफ फेम (18वां) और विक्टोरिया मेमोरियल हॉल (22वां)।

ट्रिपएडवाइजर इंडिया के कंट्री मैनेजर, निखिल गंजू ने कहा, “संग्रहालय उन महत्वपूर्ण आयोजन, घटनाओं और व्यक्तियों के बारे में जानने का सबसे प्रभावी जरिया हैं, जिन्होंने किसी स्थान के इतिहास और संस्कृति को आकार देने में मदद की है। ये संस्थान सदियों पुरानी कहानियों का खजाना हैं और ये यात्रियों को एक अलग दुनिया में ले जाते हैं।”

उन्होंने कहा, “भारत में ऐसे कई स्थान हैं, जहां ऐतिहासिक महत्व की चीजें संग्रह कर रखी गई हैं। और सच्चाई यह है कि इस साल हमारी सूची में नए प्रवेशकर्ता भी हैं, जो यह बताते हैं कि यात्री इनका अनुभव लेना चाहते हैं, जो उस स्थान के बारे में उनकी जानकारी को बढ़ाने में मदद करते हैं।”

भोपाल मिल्रिटी स्टेशन में स्थित योद्धास्थल संग्रहालय देश के लिए लड़े गए युद्धों और उनकी जीत की कहानियां बताता है। यहां आधुनिक भारतीय सेना के बारे में ऑडियो-विजुअल डिस्प्ले और आर्मी अस्त्र शस्त्र में पुराने युद्धों में उपयोग किए हथियारों को देख सकते हैं।

कारगिल रोड पर स्थित, हॉल ऑफ फेम भारतीय सेना द्वारा निर्मित संग्रहालय है। इसे उन सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के लिए बनाया गया है, जिन्होंने भारत-पाकिस्तान युद्ध में अपने प्राण न्योछावर किए थे। इस संग्रहालय में भारतीय सेना के हथियारों, कपड़ों, सुविधाओं, इतिहास और संस्कृति के साथ दुश्मनों से जब्त हथियारों को प्रदर्शित किया गया है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here