WWE सुपरस्टार रोमन रेन्स ने किया CM पंक को लेकर बड़ा खुलासा

0

WWE सुपरस्टार रोमन रेंस हाल ही में ऑफ द बॉर्ड पोडकास्ट में दिखे और कई सारे मुद्दों पर बात- की। इस पूरे इंटरव्यू में रेंस और एंजो की लड़ाई के बारे में बात हुई लेकिन इस दौरान रोमन रेंस ने लोकर रुम में सीएप पंक की दबदबे की बात भी कही। रेंस के मुताबिक पंक एक अच्छे लीडर थे। दि शील्ड ने WWE में अपना डेब्यू साल 2012 की सर्वाइवर सीरीज में किया था। शील्ड ने पंक की चैंपियनशिप को बरकरार रखने के लिए रायबैक को ट्रिपल पावरबॉम्ब दिया था। जिसके बाद सीना को पंक ने पिन कर दिया था।

” ये पूरानी बात हो गई है, लेकिन काफी मजेदार है, मैंने पंक को बोला था मेरा गोल कुछ और है , मैं कुछ बड़ा चाहता था। जैसे मैं भी लोकर रुम का लीडर बनान चाहता था। हालांकि रोमन रेंस का करियर भी तब सामने आया जब सीमए पंक ने साल 2014 में WWE को छोड़ दिया। रोमन रेंस का परिवार सदियों से रैसलिंग करता आ रहा है औब रेंस अपनी विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं। मैरे जिंदगी में काफी मुश्किल और अच्छे पल इस बिजनेस में रहते हुए आए है। कभी कभी मैं जीवन में बोर हुआ। हालांकि कोई भी मेरे सामने मेरी बेइज्जती नहीं कर सकता। लोकर रुप में अगर कुछ गलत होगा तो सबसे पहले सामने आउंगा”

रोमन रेंस के इस बयान से साफ है कि वो अपनी जिंदगी से खुश है और साफ कर चुके है कि अगर लोकर रुम में कुछ गलत होता है तो आगे बढ़कर उसका विरोध करेंगे। कुछ साल पहले ऐसा ही कुछ अंडरटेकर ने किया था, अब लगता है कि रोमन रेंस भी डैडमैन से कुछ स्किल्स सीख रहे हैं।

रोमन रेंस का इंटरव्यू सुनने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

Roman Reigns Says He Has To ‘Swing The Sword’ In The WWE Locker Room, Reveals What He Said To CM Punk

SHARE
Previous articleWWE समरस्लैम PPV में वापसी कर सकते हैं रेसलिंग लेजेंड अंडरटेकर
Next articleजानें, रात को मुंह छिपाए स्कूटर से सड़कों पर क्यों निकलीं पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here