विश्व स्तनपान सप्ताह 2020 खास: स्पतनपान करवाने से शिशु का इस प्रकार होता विकास

0

जयपुर।हर साल 1 अगस्त से 7 अगस्त तक विश्व स्तनपान सप्ताह के रूप में मनाया जाता है।इससे लोगो को बच्चों को पोषण देने में स्तनपान के प्रति जागरूक बनाया जाता है और बच्चे को जन्म से लेकर 6 महीने तक मां का दूध पिलाने की सलाह दी जाती है।बच्चों को स्तपान करवाने से बेहत्तर विकास में भी मदद मिलती है।ऐसे में आज हम विश्व स्तनपान सप्ताह 2020 के इस मौके पर स्तनपान से बच्चे को होने वाले विकास में मदद की जानकारी दे रहे है।

स्तनपान करवाने से बच्चे को सभी पोषक तत्व प्राप्त होते है जिससे शिशु का शारीरिक व मानसिक विकास बेहत्तर तरीके से होता है।साथ ही इससे बीमारियों से बचाव रहने से बच्चे की ग्रोथ अच्छे व तेजी से होती है।इसलिए शिशु को जन्म से करीब 6 महीने तक मां का दूध ही पिलना चाहिए।

मां के दूध में से ही शिशु को आवश्यक विटामिन, कैल्शियम, आयरन जैसे सभी जरूरत तत्व मिलते है।जो कि शिशु का बेहतर तरीके से विकास करने में मदद करते है।नवजात शिशु को जन्म से लेकर 6 माह तक ठीक प्रकार से स्तनपान करवाने से डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना, सांस व पेट से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कई गुणा कम हो जाता है।

इसके अलावा इससे शिशु की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है जिससे शिशु कई प्रकार के संक्रमणों से सुरक्षित रहता है।स्तनपान करवाने से शिशु कर शारीरिक विकास होने के साथ बौद्धिक क्षमता का भी तेजी से विकास होता है।

हाल ही किए गए एक शोध में बताया गया है, जिन शिशुओं को लंबे समय तक मां का दूध पिलाया जाता है, उनका दिमाग बोतल या अन्य किसी तरीकों से दूध पिलाने वाले बच्चों की तुलना में तेज होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here