विश्व बैंक ने भारत को झटका दिया, विकास दर का अनुमान घटाया

0

जयपुर। आर्थिक मंदी के हालात के बीच में भारत को विश्व बैंक से एक बड़ा झटका लगा है बताया जा रहा है कि संस्था ने अब चालू वित्त वर्ष में भारत की विकास दर के अनुमान को घटा दिया है.

आपको बता दें कि विश्व बैंक ने इसी के लिए छह फीसद कर दिया है आपको बता दें कि इससे पहले अप्रैल के महीने में उसे 7.5% बताया गया था.

वही आपको बता दें कि दक्षिण एशिया आर्थिक फोकस के ताजा संस्करण में विश्व बैंक ने यह कहा है कि मुद्रा फीसद अनुकूल है और यदि मौद्रिक रुख नरम बना रहा तो वृद्धि दर धीरे-धीरे सुधर सकती है और 2020 से लेकर साल 2021 तक 6.9% और 2021 से लेकर साल 2022 में 7.2 फीसद हो जाने का अनुमान है.

आपको बता दें कि मीडिया में जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व बैंक की संयुक्त वार्षिक बैठक में पहले इस रिपोर्ट को जारी करते हुए लगातार दूसरे साल भारत की आर्थिक वृद्धि दर में गिरावट का अनुमान व्यक्त किया गया था.

वही आपको बता दें कि रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि साल 2019 की पहली तिमाही में मांग के मामले में निजी खपत में गिरावट और उद्योग एवं सेवा दोनों में कमजोरी होने से अर्थव्यवस्था में सुस्ती रही है वहीं साल 2018 19 में चालू खाता घाटा बढ़ाकर सकल घरेलू उत्पाद जीडीपी का 2.1% हो गया है.

वहीं आपको बता दें कि रिपोर्ट के अनुसार भारत में गरीबी में कमी लगातार जारी है लेकिन अब उसकी रफ्तार सुस्त हो गई है विश्व बैंक के मुताबिक भारत में ग्रामीण अर्थव्यवस्था में सुस्ती जीएसटी नोटबंदी और शहरों में बढ़ी बेरोजगारी दर ने गरीबी परिवारों की समस्याओं को बढ़ा दिया है और उसका यह भी कहना है कि प्रभावी कॉरपोरेटर की नई दर हालिया कटौती से कंपनियों के माध्यम की अवधि को लाभ होगा लेकिन वित्तीय क्षेत्र में दिक्कतें सामने आती रहेंगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here