महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार नहीं होना चाहिए : अमिताभ बच्चन

0
114

भारत में चल रहे ‘मी टू’ मुहिम से जुड़े प्रश्नों को टालने के लिए कड़ी आलोचना झेल रहे बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन का कहना है कि महिलाओं के साथ कभी भी दुर्व्यवहार नहीं होना चाहिए। अमिताभ बच्चन गुरुवार को अपना 76वां जन्मदिन मना रहे हैं।

अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा वरिष्ठ अभिनेता नना पाटेकर पर लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों पर पूछे गए सावालों से बचने के लिए अमिताभ की अलोचना हुई।

अमिताभ ने आईएएनएस को दिए साक्षात्कार में कहा, “किसी भी महिला के साथ दुर्व्यवहार नहीं होना चाहिए या उसके साथ बदतमीजी नहीं करनी चाहिए खासकर कार्यस्थल पर। ऐसे कृत्यों के बारे में जल्द ही संबंधित अधिकारियों को जानकारी देनी चाहिए और सही कदम उठाए जाने चाहिए। आप शिकायत दर्ज करा सकते हैं या कानून की मदद ले सकते हैं।”

अमिताभ ने कहा, “अनुशासन, सामाजिक और नैतिक पाठ्यक्रम प्रारंभिक शैक्षिक स्तर पर अपनाए जाने चाहिए। महिलाएं, बच्चें और हमारे समाज के कमजोर वर्ग सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं और उनकी विशेष देखभाल की जानी चाहिए। यह देखकर बहुत खुशी होती है कि हमारे देश में महिलाएं विभिन्न विभागों में कार्य कर रही हैं। अगर हम उन्हें सुरक्षा नहीं दे पाएंगे तो यह हमारी ऐसी गलती होगी जिसे हम सुधार नहीं पाएंगे।”

यह पूछे जाने पर कि एक अभिनेता, कलाकार, संगीतकार के रूप में उनकी कौन सी ख्वाहिशें है जो अभी भी पूरी नहीं हुई है? अमिताभ ने कहा, “एक अभिनेता के रूप लाखों सपने ऐसे हैं जो पूरे नहीं हुए हैं। एक किरदार को पूर्णता से निभाने और अभिनय के कौशल को शीर्ष पर ले जाना। एक कलाकार के रूप में मेरी सीमाओं को स्वीकार करने के बावजूद प्रत्येक चुनौती पर सुधार करने का प्रयास करना। एक संगीतकार के रूप में खुद को शिक्षित करने और संगीत वाद्ययंत्रों के सीखने में सक्षम होना। मेरे लिए संगीत सर्वशक्तिमान के निकट पहुंचने का तरीका है।”

अमिताभ ने कहा, “मैं किसी चीज का उपयोग करने के लिए उसे नहीं सीखना चाहता, बल्कि अपने व्यक्तिगत पैशन के लिए उसे सीखना चाहता हूं। एक भारतीय नागरिक के रूप में मेरा हमेशा से यह सपना रहा है कि इस देश को एक विकसित देश के रूप में देखा जाए, न कि ‘विकासशील देश’ के रूप में जैसा कि इसे पश्चिम में बुलाया जाता है। मैं चाहता हूं कि भार को थर्ड वर्ल्ड की बजाए फर्स्ट वर्ल्ड नेशन का तमगा दिया जाए।”

अमिताभ की आगामी फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तां’ है जिसमें वह आमिर खान के साथ नजर आएंगे।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleये क्या? अब अमूल भी बेचेगा ऊंट का दूध
Next articleगुजरात हिंसा पर पहली बार पीएम मोदी का बयान आया सामने, कह दी यह बड़ी बात
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here