किसके समर्थन से सांसद बन बैठे थे विजय माल्या? जानिए 2010 की पूरी कहानी

0
136

जयपुर। माल्या जो देश के बैंक का हजरों करोड़ लेकर फरार है, उनके एक बयान से इस वक्त भारत की राजनीति में उथल पथल मची हुई है, कांग्रेस और बीजेपी दोनों एक दुसरे पर माल्या के देश के भागने पर आरोप लगा रहे है।

आपको बता दे की माल्या ने कहा था की वो देश छोड़ने से पहले अरुण जेटली से मिलकर गए थे। माल्या ने कहा, “मैं संसद में जेटली से मिलने आया और उससे कहा कि मैं लंदन के लिए जा रहा हूं। मेरे पास उनके साथ निर्धारित कोई औपचारिक बैठक नहीं थी।” उन्होंने यह भी कहा कि वह कई बार जेटली से मिले थे और बैंक ऋण को सुलझाने की अपनी इच्छा व्यक्त की थी।

अब माल्या के इस बयान के बाद ये सवाल उठ रहा है की आखिर वो कौनसा दल था जिसके चलते माल्या संसद में पहुंच गए तो हम आपको बता दे की माल्या ने कर्नाटक से निर्दलीय सांसद चुने जाने के बाद राज्यसभा पहुंचे थे। उन्हें राज्यसभा पहुंचाने में सबसे बड़ा हाथ जेडीएस का था। उनके सांसद बनने में बीजेपी का भी हाथ था।

आपको बता दे की जब राज्यसभा में एक सीट के कांग्रेस को  बीजेपी और जेडीएस विधायकों पर निर्भर होना पड़ा था तब बीजेपी विधायकों ने कांग्रेस उम्मीदवार को समर्थन नहीं देने का फैसला किया। बताया जाता है कि कांग्रेस उम्मीदवार को हराने के लिए बीजेपी के कुछ विधायकों ने विजय माल्या को वोट दिया।

इस वोट और समर्थन की उठा पटक के बाद माल्या राज्यसभा में पहुंचे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here