अब आंखें देखकर बीमारियों का पता चल जाएगा, गूगल की इस नई तकनीक की मदद से

0
118

आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस यानी कृत्रिम बुद्धिमत्ता वह तकनीक है जिसमें रोबोट या मशीन को इंसानी दिमाग की तरह कुशल बनाया जाता है। हालांकि कई लोग इस आधुनिक तकनीक का विरोध करते हैं। उनके अनुसार यह  मानवता के लिए खतरा साबित हो सकती है। दोनों ही विचारधाराओं के अलग अलग तर्क हैं। लेकिन फिलहाल तो एआई यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तेजी से तरक्की कर रहा है। हाल ही में गूगल ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपनी इस तकनीक को इस्तेमाल करने की योजना बनाई है।

दरअसल गूगल ने हेल्थ टेक्नॉलॉजी की मदद से दिल से जुड़ी बीमारियों और खतरों के बारे में जानने का एक अनोखा तरीका खोज लिया है। जी हां, अब गूगल आंखों से दिल की बीमारियों का पता लगा लेगा। नई तकनीक में मशीन लर्निंग का प्रयोग करते हुए यह पता चल जाएगा कि व्यक्ति को कौनसा रोग है। इस नई तकनीक में सॉफ्टवेयर की मदद से रोगी की आंखों को स्कैन किया जाएगा और उससे जुड़ी जानकारी ले ली जाएगी।

इस नयी तकनीक में आंखों से जुटाई गई जानकारी से उस व्यक्ति की उम्र, ब्लड प्रशर के अलावा यह भी पता चल जाएगा कि वो धूम्रपान करता है या नहीं। नज़रों से मिली यह जानकारी मशीन लर्निंग के जरिए हार्ट अटैक का अनुमान पहले से ही लगा लेगी। खास बात यह है कि यह तकनीक काफी सटीक नतीजे देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here