क्या एससीओ संयुक्त सैन्य अभ्यास से थम जाएगा भारत-पाकिस्तान के बीच का तनाव?

0

जयपुर। भारत और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच तनाव आजादी के समय देखा गया है जिसके लिए हमेशा से ही पाकिस्तानी सेना की मनमानी औऱ सीमावर्ती इलाकों में बढती उनकी घुसपैठ को मान सकते हैं। लेकिन एसीओ संयुक्त सैन्य अभ्यास के दौर में एक बार फिर सुलह की आसखाएं जताई जा रही हैं। इस मामले में चीनी विशेषज्ञों का कहना है कि रूस में प्रस्तावित शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों का संयुक्त सैन्य अभ्यास भारत और पाकिस्तान के बीच तनावों को दूर करके आपसी बातचीत की संभावनाओ को विकसित कर सकता है।

जानकारी के लिए बता दें कि शंघाई सहयोग संगठन के संयुक्त सैन्य अभ्यास में भारत औऱ पाकिस्तान की सेनाएं हिस्सा लेने जा रही है। इस मामले में चीनी प्रशासन के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है  एससीओ के सभी सदस्य देशों ने 9 और 10 जून को शेडोंग प्रांत स्थित किंगदाओ में आयोजित एक संयुक्त ड्रिल में अपनी भागीदारी प्रस्तुत करेंगे। संयुक्त सेनाओं वाला यह ड्रिल ऑपरेशन 18 वें एससीओ के नियमो-कानून के हिसाब से ही संचालित किया जाएगा।

गौरतलब है कि 18 वें शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ससाथ-साथ दुनियाभर के कई नेताओं ने भाग लिया था। पिछले वर्ष ही भारत औऱ पाकिस्तान को पूर्णकालिक सदस्य के तौप पर शामिल किया गया है जिसके चलते ये दोनों देश आजादी के बाद पहली बार किसी संयुक्त सैन्याभ्यास में एक साथ भाग लेंगे। हालांकि इससे पहले भारत और पाकिस्तान की सेनाएं संयुक्त राष्ट्र मिशन के लिए काम कर चुकी है।

दोनों सेनाओं की उपस्थिति वाले इस संयुक्त सैन्याभ्यास को लेकर बीजिंग यूनिवर्सिटी में अंतरराष्ट्रीय संबंधों के प्रोफेसर ली जिंग का कहना है कि इस सैन्याभ्यास में भारत औऱ पाकिस्तान की भागीदारी के कारण दुनियाभर की नजरें टिकी रहेंगी जिसके तहत एससीओ सुरक्षा सहयोग में ये सेनाएं अपना योगदामन देंगी। उन्होंने बताया कि संघाई सहयोग संगठन का यह संयुक्त सैन्याभ्यास आपसी बातचीत को सुविधाजनक बनाने में खास मदद प्रदान करेगा।

इसी के विपरीत कई विशेषज्ञों के मानना है कि एससीओ संयुक्त सैन्याभ्यास के दौरान दोनों देशों के बीच आपसी बातचीत की संभावनाएं काफी कम हैं। बता दें कि यह सैन्य कार्यक्रम पारस्परिक भरोसा स्थापित करने, आतकवाद से निपटने, औऱ क्षेत्र में शांति और सुरक्षा में सुधार करने के लिए एक व्यापक मंच प्रदान करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here