लोकसभा चुनाव 2019: क्या नरेंद्र मोदी को वाराणसी का आशीर्वाद मिलेगा?

0
61

जयपुर। लोकसभा के चुनाव को मद्देनजर रखते हुए इस वक्त चुनाव प्रचार के साथ अपने चरम पर है और इसी के लिए गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में एक शानदार रोड शो किया और उसके बाद आज शुक्रवार को वह अपना नामांकन दाखिल करेंगे वहीं गुरुवार को रोड शो के बाद नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं सोच रहा था कि जनता पार्टी ने मुझे भेजा है लगता है काशी जा रहा हूं लेकिन आज यहां आने के बाद मुझे पता लगा है कि नाम किसी ने मुझे भेजा है ना मैं यहां आया हूं मुझे तो मां गंगा ने बुलाया है यह बात उन्होंने 2014 के रोड शो के बाद 24 अप्रैल 2014 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था और उसके बाद उन्होंने लोकसभा का चुनाव जीता था.

2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के वाराणसी से लोकसभा का चुनाव लड़ा था और वहां से जीत भी हासिल करेगी और उसके बाद प्रधानमंत्री बने इसके बाद एक बार फिर अब 2019 के लोकसभा चुनावों में फिर से वाराणसी के मैदान में है और इस बार उनका मुकाबला बीते चुनावों से आसान भी होने की संभावना है क्योंकि उन्हें पिछली बार कड़ी चुनौती आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल दे रहे थे.

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नामांकन भरने से पहले एक भरोसा किया और जनसभा को भी संबोधित किया और संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मैया ने सब भुला दिया काशी के बहन भाइयों ने इतना प्यार दिया कि बनारस के पन नए फकीर भी जम गया.

वही बता दी की सीट के लिए आम आदमी पार्टी ने अपना कोई प्रत्याशी अभी तक घोषित नहीं किया है वहीं कांग्रेस पार्टी ने अपने पुराने प्रत्याशी अजय राय को भी एक बार फिर इस सीट से चुनाव के लिए टिकट दिया है आपको बता दें कि 2014 के चुनाव में भी अजय राय को ही कांग्रेस पार्टी की तरफ से टिकट मिला था और वह वाराणसी की लोकसभा सीट पर तीसरे नंबर पर रहे थे और दूसरे नंबर पर अरविंद केजरीवाल रहे थे जो 3 लाख वोटों से हारे थे.

चुनाव में इस बात की अटकलें लगाई जा रही थी कि कांग्रेस पार्टी की तरफ से प्रियंका गांधी प्रत्याशी हो सकती है लेकिन शुभ गुरुवार को कांग्रेस पार्टी ने अपने प्रत्याशी का नाम जारी करते हुए उन्हें खत्म कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here