लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी में किसके राष्ट्रपति बनने की कितनी संभावनाएं हैं?

0
122

जयपुर। केंद्र में मोदी की सरकार एक बार फिर आ चुकी है और इस बार वापस राष्ट्रपति के चुनाव होने हैं इस वक्त हालांकि मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कार्यकाल के 3 साल बाकी है लेकिन अभी से ही सभी के मन में कहीं ना कहीं यह बात तो शुरू हो चुकी है कि अगला राष्ट्रपति भारतीय जनता पार्टी के द्वारा किसे बनाया जाएगा आपको बता दें कि अगला राष्ट्रपति का चुनाव 2022 में रामनाथ कोविंद के कार्यकाल खत्म होने के बाद होना है.

जब से मोदी सरकार बनी है तब से सीमित दायरे में ही सही लेकिन इस बात की चर्चा जरूर है कि अगला राष्ट्रपति कौन होगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के नए राष्ट्रपति के तौर पर किसका नाम आगे बढ़ाएंगे.

वहीं इसके अलावा जब भी संदर्भ में कोई बात होगी तो भारतीय जनता पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं जिसमें लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का नाम जरूर सामने आएगा और इस बात की चर्चा आपको बता दें कि पिछले राष्ट्रपति के चुनाव में भी हुई थी जहां पर लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को लेकर सभी की उम्मीदें थी कि इन्हें राष्ट्रपति बनाया जा सकता है.

बता दें कि पिछले राष्ट्रपति के चुनाव में सबकी उम्मीदों से उलट अमित शाह और नरेंद्र मोदी ने रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया था जो उस वक्त बिहार के राज्यपाल के पद पर नियुक्त थे वही आपको बता दें कि रामनाथ कोविंद के नाम सामने आने के बाद भी और उसे पहले भी भाजपा के अंदर के किसी भी नेता ने राष्ट्रपति के उम्मीदवार के तौर पर लालकृष्ण आडवाणी के नाम को आगे नहीं किया.

वही आपको बता दें कि 2020 में राष्ट्रपति पद के होने वाले चुनाव के लिए क्या लालकृष्ण आडवाणी मुरली मनोहर जोशी का नाम आगे किया जाएगा वहीं आपको बता दें कि लालकृष्ण आडवाणी पर कोर्ट में बाबरी मस्जिद को लेकर की एसपी है ऐसे में क्या सरकार उन्हें राष्ट्रपति के उम्मीदवार बनाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here