आखिर क्यों बैंक ऑफ इंग्लैंड का गवर्नर पद नहीं चाहते रघुराम राजन?

0
76

जयपुर। बैंक को इंगलैंड के गवर्नर पर के लिए नामित भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने इस पद के लिए आवेदन करने की खबरों को खारिज कर दिया है। इस मामले में रघुराम राजन ने साफतौर पर कहा है कि ‘वह एक शिक्षक हैं और शिकागो यूनिवर्सिटी में उनके पास बेहद अच्छी नौकरी है। इसलिए वह अभी एक बैंकर नहीं है। फिल्हाल, उनका यूनिवर्सिटी की नौकरी छोड़ने का कोई मन नहीं है।’

जानकारी के लए बता दें कि आरबीआई पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने यह बात लंदन में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। इस मामले में उन्होंने बताया कि शि‍कागो यूनिवर्स‍िटी में उनकी नौकरी बहुत ही अच्छी चल रही है औऱ वह वहां बहुत खुश हैं। पूर्व गवर्नर राजन ने यह भी कहा कि ‘मैं कोई प्रोफेशनल सेंट्रल बैंकर नहीं हूं बल्कि एक एकेडमिक हूं। इसलिए मैं कहीं भी किसी जॉब के लिए अप्लाई नहीं करने जा रहा।’

गौरतलब है कि बैंक ऑफ इंग्लैंड में नए गवर्नर पद की नियुक्ति के लिए भारत समेत कई देशों के प्रौफेशनल्स का नामांकन सामने आया है। और गर्वनर पद की दौड़ में भारतीय रिजर्ब बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का नाम भी शाम‍ल है। वह सितंबर 2016 तक आरबीआई गवर्नर पद पर कार्यरत रहे। जिसके बाद उन्हें शिकागो यूनिवर्सिटी में बतोर प्रोफेसर नियुक्त किया गया।

खबरों की मानें तो बैंक ऑफ इंग्लैंड का गवर्नर पद जून 2019 में खला होगा जिससे पहले बैंक को अपना नया गवर्नर नियुक्त करना पडेगा। फिल्हाल इस पद पर मार्क कार्ने कार्यरत है जो पहले कनाडा के सेंट्रल बैंक में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं। मीडिया रिपोर्टस की मानें तो ब्रिटेन प्रशासन बैंक ऑफ इंग्लैंड पद के लिए विभिन्न उम्मीदवारों को तलाश रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here