अफ्रीका की स्थानीय पक्षी की प्रजाति क्यों होती है शहरी इलाको की ओर आकर्षित

0
40

जयपुर। अफ्रीका में शहरी इलाकों समृद्ध माना जाता है। ऐसा इसलिए नहीं कि वहा पर ज्यादा जनसंख्या पायी जाती है बल्कि इसलिए क्योंकि इन शहरों की ओर पक्षी जल्दी हो जाते हैं। एक नए अध्ययन के अनुसार, दक्षिण अफ्रीका की स्थानीय पक्षी प्रजातियां समृद्ध शहरी इलाकों की तरफ आकर्षित होती हैं, बजाय कम समृद्ध भागों के।

वैज्ञानिक इसका कारण बताते है कि समृद्ध शहरी भागों में हरियाली ज्यादा होती है जो इन पक्षियों को सहज सुलभ आवास और भोजन उपलब्ध करवाती है। एक अन्य अध्ययन में बताया है कि वर्ष 2003 में एरिजोना में हुए एक शोध में भी यह प्रवृति देखी गई थी, जहां पर वैज्ञानिक प्लांट बायोडायवर्सिटी का अध्ययन कर रहे थे।

उन्होंने इसे ‘लग्जरी इफैक्ट’ की संज्ञा दी थी। पूर्व में कई जंतुओं, जैसे कीट, चमगादड़ और छिपकली में ‘लग्जरी इफैक्ट’ की प्रवृति देखी जा चुकी है। समृद्ध शहरी इलाकों में पक्षी वहां के बड़े—बडे शानदार बगीचे और उनमें उगे किस्म—किस्म के पेड़—पौधे तथा वहां उपलब्ध पानी वन्यजीवों को आकर्षित करते हैं।

मुख्य शोधकर्ता इटली की यूनिवर्सिटी आॅफ टूरिन के डैन चैंबरलेन ने दक्षिण अफ्रीका में भी लग्जरी इफैक्ट पाए जाने की पुष्टि की है। इस पर अध्ययन किया गया जहां पर वैज्ञानिकों ने 22 शहरी क्षेत्रों में पक्षियों की जैव विविधता नापी गई।

वैज्ञानिक ने इस अध्ययन के बाद सुझाव दिया है कि दुनिया भर के शहरी क्षेत्र का लगभग आधा भाग पार्क, बगीचे या पेड़—पौधों को समर्पित होना चाहिए। जैसे एक संपन्न परिवार को इसका लाभ मिलता है तो गरीब इससे वंचित क्यो रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here