कोविंद बनाम मीरा : 14वें राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग पूरी, 20 को होगी परिणाम की घोषणा 

0
264
presidential election

देश के 14वें राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान शाम पांच बजे विधिवत समाप्त हो गया। आपको बतादें कि नए राष्ट्रपति के चुनाव में बीजेपी और एनडीए की ओर से उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का मुकाबला यूपीए उम्मीदवार मीरा कुमार से है। इस चुनाव में पीएम मोदी, अमित शाह, वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत कई अन्य नेताओं ने मतदान किया।

वहीं, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या सहित योगी कैबिनेट के लगभग सभी मंत्रियों ने मतदान किया। संसद भवन के अलावा हर राज्य की विधानसभाओं में सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक मतदान प्रक्रिया पूरी की गई। संसद के दोनों सदनों में जहां सांसदों की वोटिंग की व्यवस्था की गई थी वहीं राज्य विधानसभाओं में वहां के निर्वाचित सदस्य को वोट डालने थे। आप को बतादें कि 20 तारीख को परिणाम आएंगे।

विपक्ष की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी ने भी मतदान किए। विपक्ष का कहना है कि मीरा की छवि बिल्कुल शानदार और बिल्कुल स्पष्ट रही है। इस चुनाव की जो सबसे खास बात रही वो ये है कि कई विपक्षी पार्टियों की ओर से क्रॉस वोटिंग के संबंध में बयान जारी किए गए।

नए राष्ट्रपति के चुनाव में कुल 32 मतदान केंद्रों पर वोट डाले गए। 60 फीसद मतों के साथ कोविंद की जीत पक्की मानी जा रही है। इस बार राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग होने की पूरी संभावना है। ऐसा माना जा रहा है कि कोविंद राजग के बाहर से मिले वोटों के दम पर प्रणब मुखर्जी से ज्यादा मतों के साथ चुनाव जीत सकते हैं। आप को बतादें कि साल 2012 के चुनाव में प्रणब मुखर्जी ने 69 फीसद वोटों से अपने प्रतिद्वंद्वी पीए संगमा को पराजित किया था।

pm modi voting

असली मुकाबला बीजेपी और एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद और यूपीए प्रत्याशी मी​रा कुमार के बीच है। मतदान के बाद वोटों की असली गिनती 20 जुलाई को दिल्ली में होगी।

गौरतलब है कि 24 जुलाई को प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल खत्म हो रहा है। आज संसद भवन और राज्य चुनाव से पहले रामनाथ कोविंद और मीरा कुमार अपना समर्थन जुटाने के लिए राज्यों के दौरे कर चुके हैं।

soniaGandhi voting

इस चुनाव में जो खास बात देखने को मिल रही है वो ये है कि बिहार की महागठबंधन सरकार में शामिल जेडीयू और राजद इन दोनों पार्टियों ने अलग—अलग प्रत्याशियों को वोट देने का निर्णय लिया है। नीतीश कुमार के अगुवाई वाली सरकार जेडीयू जहां एक ओर रामनाथ कोविंद को समर्थन दे रही है वहीं राजद और लालू यादव के समर्थक मीरा कुमार को वोट करेंगे।  इस चुनाव में शिवपाल यादव और मुलायम सिंह यादव का वोट भी रामनाथ कोविंद को ही मिलने की आशंका है।

आपको जानकारी के लिए बतादें कि प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में कुल 4896 मतदाता हैं। जिनमें 776 सांसद और 4120 विधायक हैं। लेकिन मध्य प्रदेश के बीजेपी विधायक नरोत्तम मिश्रा का वोट अयोग्य होने के कारण अब कुल वोटों की संख्या 4896 ही रह गई है।  अर्थात इस चुनाव में वोटों की संख्या कुल दस लाख 98 हजार और 903 है। एनडीए प्रत्याशी रामनाथ कोविंद को कुल 63 से 64 फीसदी वोट मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।

इस वोटिंग पर टिप्पणी करते हुए आज सुबह नौ बजकर चौवन मिनट पर पीएम मोदी ने कहा— जीएसटी के कारण इस बार का मानसून सत्र उमंग भरा होगा। हमें उम्मीद है कि सभी राजनीतिक दल उनके सांसद देशहित में फैसला लेंगे।

meira- kovind

वोटिंग सिस्टम —

प्रेसिडेंट इलेक्शन में जीत के लिए कुल 5,49,442 वोटों की दरकार होती है। देश के इलेक्ट्रॉरल कालेज की कुल वोटिंग वैल्यू दस लाख 98 हजार और 903 है।  मतदान के समय हर सदस्य को अपने बैलेट पेपर पर अपने पहले, दूसरे तत्पश्चात तीसरे पसंद के उम्मीदवार को वोट देना होता है।

इसक प्रक्रिया में निर्धारित 5,49,442 वोटों की संख्या पूरी होते ही चुनाव पूरा माना जाता है। अगर पहली वरियता के वोट पूरे नहीं हुए तो दूसरी वरियता के वोटों की गिनती की जाती है।

इसके बाद पहली वरीयता के वोट गिने जाते हैं, इस प्रक्रिया से ही अगर वोटिंग पूरी हो जाती है तो चुनाव पूरा माना जाता है और अगर पहली वरीयता के वोट पूरे नहीं पड़ते हैं तो दूसरी वरियता के वोटों की गिनती होती है।

प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में देश के सभी विधायक और सांसद वोटिंग करते हैं। उम्मीदवार ये चुनाव जीतने के लिए करीब साढ़े पांच लाख वोटों की दरकार होती है।

राजनीति की लेटेस्ट जानकारी पाएं  हमारे FB पेज पे.

अभी LIKE करें – समाचार नामा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here