Vishwakarma puja 2020: विश्वकर्मा पूजा में न करें ये गलती, होगा भारी नुकसान

0

16 सितंबर दिन बुधवार यानी की आज विश्वकर्मा पूजा हैं इस दिन कारखानों में विशेष रूप से पूजा की जाती हैं पंचांग के मुताबिक हर वर्ष विश्वकर्मा पूजा आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता हैं मान्यताओं के मुताबिक इसी दिन भगवान विश्वकर्मा का जन्म हुआ था। मान्यता है कि भगवान विश्वकर्मा के जन्म को देवताओं और राक्षसों के बीच हुए समुद्र मंथन से माना जाता हैं। पौराणिक युग के अस्त्र शस्त्र, भगवान विश्वकर्मा द्वारा ही निर्मित हैं। तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि विश्वकर्मा पूजा वाले दिन किन कार्यों को नहीं करना चाहिए तो आइए जानते हैं। वही विश्वकर्मा पूजा में औजारों और मशीनों की पूजा की जाती हैं इसलिए इस दिन भूलकर भी औजारों और मशीनों का अपमान नहीं करना चाहिए वरना आपको विश्वकर्मा भगवान के क्रोध का सामना करना पड़ सकता हैं विश्वकर्मा पूजा वाले दिन आकपो उन औजारों की अच्छी तरह से साफ सफाई जरूर करनाचाहिए। जिनका प्रयोग आप रोज करते हैं अगर आपके पास पुराने औजार हैं तो इस दिन उनको बाहर नहीं फेंकना चाहिए। विश्वकर्मा पूजा के दिन औजारों को पूरी तरह से विश्राम दें। इस दिन आप न तो स्वयं अपने औजारों का प्रयोग करें और न हीं किसी और को करने दें। अगर आपको कोई कारखाना है तो इस दिन आपको विश्वकर्मा पूजा जरूरी करनी चाहिए। पूजा में विश्वकर्मा भगवान की मूर्ति जरूर रखें। इस दिन मांस मदिरा का सेवन भूलकर भी नहीं करना चाहिए। अपने कारोबार की वृद्धि के लिए आप विश्वकर्मा पूजा के दिन गरीबों और जरूरतमंद लोगों को दान भी कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here