Vidyamandir Classes ने लॉन्च किया साल का सबसे बड़ा एडमिशन और स्कॉलशिप टेस्ट ‘VIQ’

0

आईआईटी जेईई और नीट परीक्षाओं की तैयारी कराने के लिए इस क्षेत्र के सबसे बड़े एडमिशन और स्कॉलरशिप टेस्ट – विद्यामंदिर इंटलेक्ट टेस्ट (वीआईक्यू) की घोषणा विद्यामंदिर क्लासेस (वीएमसी) ने कर दी है। यह टेस्ट 1 लाख उम्मीदवारों के लिए लॉन्च किया गया है। आईआईटी जेईई और नीट की परीक्षाओं की तैयारी कराने वाले प्रमुख संस्थान-वीएमसी का लक्ष्य है कि वह इस लॉन्च के जरिए इन परीक्षाओं में ज्यादा से ज्यादा अंक लाने के लिए छात्रों को मार्गदर्शन दे।

यह परीक्षा 24 अक्टूबर और 1 नवंबर 2020 को होगी। ऑनलाइन तौर पर आयोजित ये परीक्षा कक्षाओं में एडमिशन और अप्रैल 2021 से शुरू होने वाले ऑनलाइन प्रोग्राम के लिए होगी। उत्सवरें के सीजन को देखते हुए परीक्षा के लिए 2 तारीखें घोषित की गईं हैं, छात्र इनमें से किसी भी एक दिन परीक्षा दे सकते हैं।

महामारी के चलते वीएमसी प्रबंधन ने हर साल होने वाली फीस वृद्धि को इस साल लागू नहीं किया है, लिहाजा छात्र पिछले साल की फीस पर ही एडमिशन ले सकेंगे। क्वालिफाई होने पर छात्र केवल 9,999 रुपये में कोर्स के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे और बाकी फीस का भुगतान वे अप्रेल 2021 तक कर सकेंगे।

छात्रों के लिए यह एक बड़ा अवसर है कि वे क्वालिफाई होने पर क्लासरूम प्रोग्राम में 50 हजार रुपये तक छूट पा सकते हैं, साथ ही अपनी मैरिट और क्वालिफाइंग टेस्ट के अंकों के आधार फीस में 100 फीसदी तक की स्कॉलरशिप पा सकते हैं।

इतना ही नहीं इसके जरिए छात्र वीएमसी की उस शानदार शिक्षण पद्धति का फायदा ले सकते हैं जिसके जरिए वह जेईई मेन 2020 (सितंबर) के नतीजों में 6 टॉपर्स के साथ दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, बिहार और जम्मू-कश्मीर में आगे है। बता दें कि यह परीक्षा विशेष रूप से आईआईटी/जेईई और नीट के उम्मीदवारों के लिए पूरी विशेषज्ञता के साथ डिजाइन की गई है, जो कि देश के शीर्ष इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में दाखिला लेना चाहते हैं।

इस दौरान छात्रों को मार्च 2021 तक 120 घंटे तक मुफ्त लाइव क्लास भी मिलेंगी।

गौरतलब है कि यह टेस्ट छात्रों की वर्तमान क्षमता को समझने का अहम जरिया है। इस टेस्ट के साथ विद्यामंदिर ने छात्रों की प्री-फाउंडेशन स्टेज को मजबूत करने के लिए भी एक प्रोग्राम शुरू किया है। इसमें कक्षा 6 से 8 वीं के छात्र अप्रैल में प्रवेश ले सकेंगे।

वीएमसी के सह-संस्थापक बृजमोहन ने इस मौके पर कहा कि, “वीएमसी द्वारा सबसे बड़े एडमिशन और स्कॉलरशिप टेस्ट वीआईक्यू को लॉन्च करते हुए हम बहुत खुश हैं। यह टेस्ट आईआईटी जेईई और नीट के उम्मीदवारों को एक बड़ा मौका देगा। साथ ही देश के शीर्ष संस्थानों से पढ़कर आए शिक्षकों से मार्गदर्शन प्राप्त करने का मौका देगा। यह टेस्ट छात्रों में प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में ज्यादा से ज्यादा अंक लाने का आत्मविश्वास भी जगाते हैं।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleIPL 2020 DC vs SRH: मैच से पहले दिल्ली कैपिटल्स के लिए बुरी ख़बर, खेलने नहीं उतरेगा ये खिलाड़ी
Next articleदेश की 22 क्षेत्रीय भाषाओं को मजबूती प्रदान करेगी नई शिक्षा नीति : Nishank
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here