विदुर नीति: सफलता पाने का अचूक मंत्र है महाभारत के विदुर की ये बातें

0

महान दार्शनिक विदुर की नीतियों को मनुष्य विदुर नीति के नाम से जानते हैं उनकी नीतियां सफलता पाने के लिए अचूक मंत्र के समान हैं विदुर द्वारा दिखाया गया दर्शन केवल महाभारत काल तक सीति​त नहीं था, बल्कि उनके विचार आज भी उतने ही प्रासंगिक हैं, जितने पहले थे। विदुर नीति में दिए गए उनके मंत्र किसी भी चुनौतियों पर विजय पाने के लिए पर्याप्त हैं, आज आपको उनकी ऐसी नीतियों को बताने जा रहे हैं जिनके द्वारा आप सफलता की ऊंचाइयों को छू सकते हैं विदुर नीति की कुछ खास बातें आज हम आपको बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

अहंकार मनुष्य के पतन का कारण होता हैं पौराणिक कथाओं में ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं कि जिन व्यक्तियों ने अहंकार किया हैं उनका सर्वनाश ही हुआ हैं। रावण को भी अपनी शक्ति का घमंड हुआ था। नतीजा क्या हुआ सब जानते हैं, व्यक्ति को अहंकार कभी नहीं करना चाहिए। विदुर ​नीति के मुताबिक जो मनुष्य खुद को अहंकार समझने लगता हैं उसका शीघ्र ही पतन निश्चित हो जाता हैं ऐसे लोग की उम्र भी कम होती हैं

समाज हित में त्याग करने की भावना मनुष्य को श्रेष्ठता की ओर ले जाती हैं इतिहास में जिन लोगों ने किसी जीव जंतु या समाज हित के लिए त्याग किया हैं वे महापुरुष आज भी पूजनीय और वंदनीय हैं। विदुर नीति के मुताबिक एक सफल मनुष्य के अंदर त्याग की भावना अवश्य होनी चाहिए। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम ने अपने पिता के वचन का पालन करने से लिए अयोध्या के सिंहासन को त्याग दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here