Vastu tips: वास्तु अनुसार होना चाहिए आपका रसोईघर, फिर नहीं रुकेगी तरक्की

0

वास्तुविज्ञान में दिशाओं का बहुत अधिक महत्व होता हैं हर दिशा के अलग दिग्पाल होते हैं, इसलिए घर में हर स्थान का निर्माण दिशा के मुताबिक होना बहुत जरूरी होता हैं घर में रसोई वासतु के मुताबिक होनी चाहिए। घर की रसोई का काम अधिकतर महिलाओं के जिम्मे होता हैं इसलिए रसोई में किसी भी तरह का वास्तुदोष होने पर सबसे अधिक नकारात्मक प्रभाव घर की महिलाओं पर पड़ता हैं इसलिए रसोई घर का​ निर्माण करते समय दिशा का ध्यान रखना जरूरी हैं साथ ही रसोर्ठ का सामान भी एक सही स्थान पर रखना जरूरी होता हैं तो आज हम आपको वास्तु अनुसार रसोई के बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

घर में रसोई का निर्माण हमेशा दक्षिण पूर्व दिशा यानी आग्नेय कोण में करना चाहिए। इस दिशा के स्वामी शुक्र ग्रह हैं वास्तु अनुसार दक्षिण पश्चिम दिशा में रसोई नहीं बनानी चाहिए। इससे आपके घर में अनावश्यक व्यय होता हैं। किचन में चूल्हा रखने का स्थान पूर्व या उत्तर दिशा की ओर बनाना उचित रहता हैं जिससे भोजन बनाते वक्त गृहिणी का मुहं उत्तर या पूर्व दिशा की ओर रहे। अगर आपकी रसोई में माईक्रोवेव आदि हैं तो उसे दक्षिण पूर्व के कोने में रखें। रसोई में पानी का स्थान या फ्रिज उत्तर पश्चिम दिशा में रखना उचित होता हैं।

रसोई में आटा, चावल और खाद्य पदार्थ की सामाग्री को पश्चिम ​या दक्षिण दिशा में रखना चाहिए। रसोई की खिड़की पूर्व या उत्तर दिशा में ही बनानी चाहिए। प्रकाश करने के लिए बल्व आदि भी इसी दिशा में लगाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here