उत्तर प्रदेश : घर-घर पहुंचे समाजवादी, गिनाई भाजपा की विफलता

0
93

समाजवादी पार्टी की समाजवादी विकास विजन व सामाजिक न्याय यात्रा ने सातवें दिन शहर के वाजिदपुर वार्ड के घर-घर पहुंची। पूर्व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य श्रवण जायसवाल व सभासद सुनील यादव की संयुक्त अगुवाई में समाजवादी दस्ता वार्ड की कई बस्तियों में पहुंचा। वार्ड की हरिजन बस्ती, प्रजापति बस्ती, मौर्य बस्ती सहित तमाम गलियों व मोहल्लों में पहुंचे समाजवादियों ने जहां पूर्ववर्ती समाजवादी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया तो वहीं भाजपा सरकार की नीतियों को गलत ठहराते हुए उनसे लोगों को अवगत कराया। सामाजिक न्याय यात्रा के तहत केंद्र सरकार द्वारा कथित तौर पर बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के संवैधानिक दस्तावेजों व आरक्षण व्यवस्था से की जा रही छेड़छाड़ के प्रति लोगों को सजग किया गया।

श्रवण जायसवाल ने कहा कि भाजपा द्वारा वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में किए गए वादे- हर साल दो करोड़ नौकरियां, 15 लाख रुपये प्रत्येक व्यक्ति के खाते में आना, विदेश में जमा काले धन को ले आना, सीमा सुरक्षा, गंगा की सफाई जैसे तमाम वादे जो इन्होंने अपने घोषणापत्र में किए थे, किसी भी वादे पर मोदी सरकार खरी नहीं उतरी है।

उन्होंने कहा कि नौकरी व रोजगार का सवाल जब भी उठता है, तब देश के प्रधानमंत्री नौजवानों को पकौड़ा बेचने की सलाह देते हैं। देश की विकास दर गिरती जा रही है, आर्थिक भ्रष्टाचार चरम पर है, मगर सत्तासीन नेता व भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व धर्म के नाम पर लोगों को बहकाने का काम करती है।

श्रवण ने कहा कि कभी गाय के नाम पर तो कभी धार्मिक बखेड़ा खड़ाकर इनके नेता धार्मिक उन्माद पैदा करते हैं। मगर अब लोकसभा चुनाव में पिछड़े, दलित सहित सभी वर्गो के लोगों ने ठान लिया है कि मौजूदा मोदी सरकार को सत्ता से हटाकर सबक सिखाना है।

उन्होंने कहा, “हम गांव, गरीब, किसान व नौजवान की बात करते हैं और इस बात की पैरवी करते हैं कि सभी जातियों को उनके अनुपात के हिसाब से आरक्षण दिया जाए।”

समाजवादी दस्ते में मनोज मौर्या, कृष्ण कुमार यादव, रंजीत सोनकर, इरफान मंसूरी, गुड्डू सोनकर, दीपक गोस्वामी, शहजादे, राहुल यादव, प्रवीण मौर्य लल्लन प्रजापति, अनील जायसवाल, संजय मौर्य समेत कई लोग शामिल रहे।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleजब चार शेर सड़क पर निकल पड़े तो बढ़ गईं कार ड्राइवरों की धड़कनें, VIDEO वायरल
Next articleअरूण जेटली ने किया हुनर हाट का उद्घाटन
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here