उत्तर प्रदेश : दबंगों को बचा पुलिस ने दिव्यांग दलित को फंसाया

0
178

उत्तर प्रदेश में बांदा जिले की पुलिस की कार्रवाई हैरान करने वाली है। दबंगों के कथित हमले से आहत बिसंड़ा थाना क्षेत्र के तेंदुरा गांव के जिस दिव्यांग दलित परिवार ने कुछ दिन पूर्व धर्म परिवर्तन करने की चेतावनी दी थी, बिसंड़ा पुलिस ने उसे ही शांति भंग करने के अपराध में फंसा दिया है और उन दबंगों पर मेहरबान हो गई है।

पीड़ित दिव्यांग दलित संतोष कोरी ने बुधवार को बताया, “गांव के कुछ दबंगों ने 24 मई को उसके घर की महिलाओं पर हमला किया था, पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज नहीं करने पर वह अपर जिलाधिकारी और अपर पुलिस अधीक्षक के समक्ष पेश होकर धर्म परिवर्तन किए जाने की चेतावनी दी थी।”

उसने बताया कि मामले की जांच पुलिस क्षेत्राधिकारी बबेरू और स्थानीय अभिसूचना इकाई (एलआईयू) ने की थी, लेकिन अभी तक दबंगों के खिलाफ मुकदमा नहीं दर्ज किया गया। उलटे बिसंड़ा पुलिस ने उसके ही खिलाफ शांति भंग का अपराध दर्ज किया है।

पीड़ित ने कहा कि पुलिस संरक्षण से दबंगों के हौसले बुलंद हैं और 22 जून को होने जा रही उसके भतीजे की शादी में खलल डाल सकते हैं।

पुलिस क्षेत्राधिकारी बबेरू ओमप्रकाश ने बताया कि एक खंडहरनुमा पुराने मकान की जमीन को लेकर दोनों पक्षों में विवाद हुआ था, जांच रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी गई है, अभी तक ऊपर से कोई आदेश नहीं आया। दलित के खिलाफ शांति भंग की कार्रवाई किए जाने की जानकारी नहीं है।

एलआईयू के इंस्पेक्टर धर्मपाल सिंह ने बताया कि मामले की विस्तृत रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंपी गई है, आगे की कार्रवाई संबंधित अधिकारी करेंगे।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here