उत्तर प्रदेश सरकार लगाऐगी बसों में कैमरे कारण जानकर आप हो जायेंगे हैरान

0
64

जयपुर। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में होने वाली सडक दुर्घटनओं के प्रति राज्य सरकार का रुख सख्त है और सरकार इस सडक दुर्घटनाओं से निजात पाने के लिए सरकार ने तुरंत प्रभाव से निर्णय लिया है।

उत्तर प्रदेश के तीन सबसे अधिक दुर्घटनाग्रस्त मार्गों पर चलने वाली करीब 700 रोडवेज बसों में जनवरी तक बस के आगे और पीछे दो सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। मार्गों में बरेली के माध्यम से लखनऊ-दिल्ली शामिल हैं; लखनऊ-दिल्ली वाया आगरा (एक्सप्रेस-वे) और लखनऊ-गोरखपुर वाया अयोध्या।

यूपी स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन दुर्घटनाओं के कारण प्राप्त करने के लिए बस के पीछे और पीछे प्रत्येक पर एक सीसीटीवी कैमरा स्थापित करेगा। साथ ही यह ड्राइवरों को अनुशासित भी करेगा। कैमरों की स्थापना के लिए यूपीएसआरटीसी को सड़क सुरक्षा कोष के तहत 2 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं।

यूपीएसआरटीसी हर साल दुर्घटनाओं के पीड़ितों को मुआवजे के रूप में लगभग 50 करोड़ रुपये का भुगतान करता है। कई मामलों में, अधिकारी ने कहा, निगम द्वारा लोगों को मुआवजे का दावा करने के लिए झूठा फंसाया जाता है। ज्यादातर साक्ष्य के अभाव में निगम हर साल मुआवजे के रूप में करोड़ों का भुगतान करता है। सीसीटीवी कैमरे इस तरह के दावों के खिलाफ सबूत जुटाने में मदद करेंगे।

गौरतलब है कि सरकार के इस फैसले से होने वाली दुर्घटनाओं के कारणों के बारे में पता चल सकेगा क्योंकि इस रुट पर काफी ज्यादा सडक दुर्घटनाऐं हो रही है। जिनके सही कारणों का पता अभी तक विभाग नही लगा सका इन दुरघटनाओँ में काफी जान माल का नुकसान होता है। ऐसे में इस सब को रोकना आवश्यक था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here