उत्तर प्रदेश : सीएम योगी ने उठाया एएमयू में दलित आरक्षण का मुद्दा

0
78

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दो दिवसीय कार्यसमिति की बैठक में दलित कार्ड खेलकर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में दलितों के आरक्षण के मुद्दे को एक बार फिर गरमा दिया। मुख्यमंत्री ने पिछली सरकारों पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा, “हमारी सरकार भेदभाव नहीं करती है। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय भी देश के संविधान पर ही चलता है, फिर भी आज तक उसमें दलितों को आरक्षण देने की व्यवस्था क्यों नहीं की गई।”

मेरठ के सुभारती विश्वविद्यालय में कार्यसमिति की बैठक में योगी ने कहा कि जब सरकार में इच्छाशक्ति और सकारात्मक सोच हो तो कोई भी काम मुश्किल नही है। उन्होंने कहा कि जो लोग वर्षो से राज कर रहे थे, उन लोगों ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में दलितों को मिलने वाले आरक्षण का मामला क्यों नहीं उठाया। इसके लिए पहले की सरकारों में आवाज क्यों नही उठाई गई।

योगी ने कहा, “पिछली सरकारों के दौरान केवल पांच वीआईपी जिलों में ही बिजली आती थी, लेकिन हमारी सरकार ने इस भेदभाव को भी खत्म करने का काम किया है। सरकार ने उप्र के सभी 75 जिलों को एक समान बिजली देने का काम किया है।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार बनने के 16 महीने के भीतर ही उप्र में एक सकारात्मक माहौल तैयार किया गया है। ऐसे काम इच्छाशक्ति से हुआ करते हैं। सरकार ने इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया तो लोगों ने सवाल उठाया और कहा कि इससे कुछ नहीं होगा, लेकिन सरकार ने छह महीने के भीतर ही 60 हजार करोड़ रुपये का निवेश धरातल पर उतारकर यह साबित कर दिया कि इच्छाशक्ति हो तो बहुत कुछ किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा 50 हजार करोड़ की योजनाएं पाइपलाइन में हैं, जल्द ही इन्हें भी पूरा किया जाएगा। योगी ने कहा कि शनिवार को रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण के साथ अलीगढ़ में डिफेंस कॉरीडोर के संदर्भ में हुई बैठक में भी 5 हजार करोड़ रुपये के निवेश का रास्ता खुला है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को अंदाजा नहीं है कि इसके तहत जो योजनाएं लगेंगे, उससे स्थानीय लोगों का कितना विकास होगा। कांवड़ यात्रा को लेकर भी योगी ने अपनी मंशा जाहिर की। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले कांवड़ यात्रा के दौरान उपद्रव हुआ करते थे, लेकिन इस सरकार में यह काम भी बिना किसी बाधा के दूर हो गया।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here