उत्तर प्रदेश : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने तेजस्वी पर किया पलटवार

0
79

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि जिनकी अपने राज्य में न कोई साख बची है और न कोई आधार, वे उप्र में आकर बड़ी-बड़ी बातें कर रहे हैं। डॉ. पांडेय ने बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव द्वारा लखनऊ में भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर की गई टिप्पणियों को तेजस्वी के ‘मानसिक दिवालियापन’ का परिणाम बताते हुए कहा कि “एक तरफ उनके पिता भ्रष्टाचार के मामले में जेल में हैं और दूसरी तरफ अपने भाई को लेकर भी वे तनाव में हैं। इसलिए वे न सिर्फ उप्र व बिहार, बल्कि पूरे देश की हकीकत को नहीं समझ पा रहे हैं। राजद के बिहार में पैर उखड़ चुके हैं, इसलिए अपने समर्थकों में आकर्षण पैदा करने के लिए वे उप्र में आकर अनर्गल प्रलाप में जुटे हैं।”

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव के साथ तेजस्वी यादव द्वारा संयुक्त रूप से प्रेसवार्ता कर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा सरकार पर उठाए गए सवालों और किए गए कटाक्षों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इन दोनों युवराज को सत्ता विरासत में मिली।

उन्होंने कहा, “जनता जानती है कि उप्र और बिहार की बदहाली और पिछड़ेपन के लिए दोनों राजनैतिक परिवार जिम्मेदार हैं। लोहिया के नाम पर समाजवाद की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले ये लोग जब-जब सत्ता में आए तब-तब इन्होंने परिवारवाद को बढ़ावा दिया और इनकी सरकारें भ्रष्टाचार व अपराध की पोषक बनीं।”

पांडेय ने कहा कि ये लोग शायद भूल रहे हैं कि यह 1993 नहीं, बल्कि 2019 है। अब जनता जातीय राजनीति से बहुत ऊपर उठ चुकी है। भाजपा कार्यकर्ताओं की दस्तक हर घर पर हो चुकी है और समाज के विभिन्न जाति, धर्म, वर्ग के लोग राष्ट्र निर्माण के संकल्प के साथ भाजपा के साथ जुड़कर काम कर रहे हैं।”

उप्र भाजपा अध्यक्ष ने विपक्षी दलों द्वारा बार-बार सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाए जाने पर पलटवार करते हुए कहा कि आखिर सीबीआई की जद में लालू यादव, मुलायम सिंह यादव, मायावती और अखिलेश यादव जैसे लोग ही क्यों आते हैं। इस पर आत्मचिंतन करें।

महेंद्र नाथ ने कहा कि 2019 का चुनाव ईमानदारी बनाम बेईमानी और सुशासन बनाम गुंडाराज के मुद्दे पर होने जा रहा है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleजिसे आप साधारण मसाला समझते हैं वह असल में है सबसे बड़ी औषधि, जानें उपयोग की सही विधि
Next articleपति के फैशन लेबल को प्रमोट कर रही सोनम ने पहनी बेहद सस्ती ड्रेस, सोशल मीडिया पर छाई तस्वीरें
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here